January 16, 2017

ताज़ा खबर

 

कांग्रेस का दावा, पीएम बनने के बाद कम हो रहा है नरेंद्र मोदी का करिश्मा

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 के लिए कांग्रेस मुख्यमंत्री का चेहरा पेश कर सकती है। कांग्रेस ने सीएम रूपाणी को अमित शाह का 'रबड़ स्टंप' बताया।

Author अहमदाबाद | December 30, 2016 17:07 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (PTI Photo by Manvender Vashist/5 Dec, 2015)

गुजरात प्रदेश कांग्रेस प्रमुख भरत सिंह सोलंकी ने भाजपा से मुकाबला करने के लिए 2017 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा पेश किये जाने की संभावना से इनकार नहीं किया है। राज्य में करीब दो दशक से भाजपा सत्ता में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य में भाजपा से मुकाबला करने के लिए कांग्रेस के अच्छी तरह से तैयार होने का दावा करते हुए सोलंकी ने विजय रूपाणी को ‘रबड़ स्टंप’ मुख्यमंत्री करार दिया और दावा किया कि इस साल शुरू में मुख्यमंत्री बदलना भी सत्ताधारी पार्टी की मदद नहीं करेगा जो पटेल आरक्षण और दलित आंदोलनों से घिरी हुई है।

कांग्रेस ने गुजरात में पिछले 20 वर्षों से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार को आगे करके चुनाव नहीं लड़ा है। कांग्रेस को 2017 के विधानसभा चुनावों में राज्य में एक छाप छोड़ने की उम्मीद है। सोलंकी ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘हालांकि इस (नेतृत्व के सवाल) पर उत्तर प्रदेश और पंजाब चुनाव के बाद आला कमान निर्णय करेगा। हम इसे खारिज नहीं कर सकते हैं । इंतजार करते हैं और देखते हैं।’ आनंदी बेन पटेल की जगह लेने वाले मुख्यमंत्री रूपाणी पर सीधा हमला करते हुए सोलंकी ने कहा कि वह ‘भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रबड़ स्टंप हैं।’ जब सोलंकी से यह पूछा गया कि क्या सत्ता में नेतृत्व परिर्वतन कांग्रेस के लिए नुकसानदेह साबित होगा तो उन्होंने कहा, ‘मुख्यमंत्री को बदलकर भाजपा ने दोनों मोर्चों पर शिकस्त पाई है। एक पटेल और एक महिला मुख्यमंत्री को बदलने से प्रशासन पर सकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ा है। चीजें बद से बदतर हो गई हैं।’

बीते 20 साल से विपक्ष में बैठी कांग्रेस को पुनर्जीवन की उम्मीद है क्योंकि भाजपा पटेल आरक्षण आंदोलन और ऊना घटना के बाद दलित प्रदर्शनों के रूप में मुश्किल चुनौतियों का सामना कर रही है। सोलंकी ने दावा किया कि दो आंदोलनों – पटेल कोटा आंदोलन और दलित आंदोलन की वजह से गुजरात का राजनीतिक दृश्य बदल गया है। दोनों समुदायों ने 2017 के चुनावों में भाजपा को हराने का निर्णय किया है। सोलंकी प्रधानमंत्री के करिश्मे को लेकर परेशान नहीं हैं और उन्हें विश्वास है कि पार्टी अपनी पूरी ताकत से मोदी के गृह राज्य में भाजपा से मुकाबला करेगी। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस में गुटीय लड़ाई खत्म हो गई है। गुजरात के चार बार मुख्यमंत्री बने मोदी ने राज्य में लगातार कांग्रेस को शिकस्त दी।

सोलंकी ने दावा किया, ‘मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद उनका करिश्मा कम हो रहा है। वह मंहगाई पर नियंत्रण नहीं कर पाए। पाकिस्तान नीति पर उनका गड्डमड्ड रवैया है, (जम्मू कश्मीर में) महबूबा मुफ्ती के साथ उनका गठबंधन और नोटबंदी के फैसले ने आम आदमी में उनकी छवि को नष्ट कर दिया है।’ उन्होंने कहा ‘गुजरात में भाजपा और कांग्रेस को मिले मत प्रतिशत में 10 प्रतिशत से ज्यादा का अंतर नहीं रहा। हमें उस अंतर को पाटने की जरूरत है और इसके लिए हमने अपनी तैयारी काफी पहले ही शुरू कर दी है।’

सोलंकी ने दावा किया कि कि भाजपा 20 सालों से सत्ता में है और घमंडी, मतलबी और भ्रष्ट हो गई है तथा नागरिकों से विनम्र तरीके से सुलूक करना भूल गई है जो उन्हें बुरी तरह से प्रभावित करने वाला है। राज्य में कांग्रेस के बारे में बात करते हुए सोलंकी ने दावा किया कि गुटबाजी से पार्टी अब मुक्त है जो अतीत में इसमें था। उन्होंने कहा, ‘राज्य कांग्रेस में कोई गुटबाजी नहीं है क्योंकि केंद्रीय नेतृत्व और हमारे जमीनी स्तर के कार्यकर्ता इस पर संयुक्त लड़ाई देने के लिए उत्सुक हैं जो मध्य स्तर के नेताओं को गुटबाजी की गतिविधियों में शामिल नहीं होने देगा।’

शहरी गुजरात को जीतने के लिए कांग्रेस की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर सोलंकी ने कहा, ‘ग्रामीण इलाकों में हम मजबूत हैं और शहरी इलाकों में युवाओं और मध्य वर्ग का मन जीतने के लिए हमने कई अभियान शुरू किए हैं । हम अब मध्य वर्ग की पार्टी बन गए हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमने प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी है और 2017 में होने वाले चुनाव के लिए 182 सीटों के वास्ते दो हजार से ज्यादा पार्टी कार्यकर्ताओं ने आवेदन किया है। हमने इस बार बड़े स्तर पर तैयारी शुरू की है।’ उन्होंने कहा कि लोगों का समर्थन हासिल करने के लिए अगले साल कई कार्यक्रम और यात्राएं शुरू की जायेंगी। गुजरात में 2017 के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 30, 2016 5:07 pm

सबरंग