ताज़ा खबर
 

बाप सह‍ित पूरे पर‍िवार ने कर द‍िया इनकार, ससुर हुआ क‍िडनी देने को तैयार, मह‍िला बोली- नहीं थी ऐसी उम्‍मीद

हेमदास का मानना है कि उसकी बहू उसके बेटे की बीवी और उसके पोते की मां है, ऐसे में वो उसके लिए वो सब कुछ करेगा जो वो कर सकता है।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। फोटो सोर्स- यूट्यूब

गुजरात के अहमदाबाद से एक बेहद चौंका देने वाली खबर सामने आई है। यहां एक महिला को जब उसके घरवालों ने अपनी किडनी देने से इनकार कर दिया तचो उसके ससुर ने उसे अपनी किडनी दान कर उसकी जिंदगी बचाने का फैसला किया है। पेश से किसान हेमदास वैष्णव अपनी बहु को अपनी किडनी देने के लिए वो सब कुछ कर रहा है जो वो कर सकता है। हेमदास ने मीडिया को बताया कि एक बाप आसानी से अपने बेटे या बेटी को किडनी दे सकता है लेकिन एक ससुर का अपनी बहू के लिए ऐसा करना किसी जंग जीतने से कम नहीं है। राजस्थान के जैसलमेर के रहने वाले हेमदास नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट के लिए राजस्थान अस्पताल के चक्कर काट रहे हैं ताकि वो जल्द से जल्द अपनी बहू को अपनी किडनी दान कर सकें।

हेमदास वैष्णव की बहू बेदामी देवी ने कहा है कि उसे बिल्कुल इस बात की उम्मीद नहीं थी कि उसके ससुर उसके लिए अपनी किडनी देंगे। बेदामी देवी ने बताया कि उसके खुद के पिता समेत उसके परिवार ने उसकी मदद करने से इनकार कर दिया था ऐसे में उसके सुसर उसके लिए भगवान की तरह सामने आए हैं।

हेमदास का मानना है कि उसकी बहू उसके बेटे की बीवी और उसके पोते की मां है, ऐसे में वो उसके लिए वो सब कुछ करेगा जो वो कर सकता है। बेदामी देवी का इलाज अहमदाबाद के IKDRC में इलाज चल रहा है। राजस्थान अस्पताल से नो ऑब्जेख्शन सर्टिफिकेट मिलने के बाद हेमदास की किडनी उनकी बहू को ट्रांसप्लांट की जा सकेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग