ताज़ा खबर
 

आजम खान के खिलाफ शिकायतों की हो रही है जांच: योगी आदित्यनाथ

सपा नेता आजम खां के खिलाफ वक्फ और सरकार की संपत्तियों पर अतिक्रमण के आरोपों को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार जांच करा रही है।
सपा नेता आजम खां के खिलाफ वक्फ और सरकार की संपत्तियों पर अतिक्रमण के आरोपों को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार जांच करा रही है।

सपा नेता आजम खां के खिलाफ वक्फ और सरकार की संपत्तियों पर अतिक्रमण के आरोपों को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार जांच करा रही है। राज्यपाल राम नाईक को भेजे पत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आजम के खिलाफ आरोपों को लेकर संबद्ध विभाग उचित कार्रवाई कर रहे हैं। उन्होंने पत्र में कहा, ‘‘हमें पूर्व मंत्री आज खां द्वारा वक्फ और सरकार की संपत्तियों पर अतिक्रमण तथा सरकारी धन के दुरूपयोग के आरोपों को लेकर आपका पत्र मिला है। संबद्ध विभाग इस सिलसिले में उचित कार्रवाई कर रहे हैं।’’
रामपुर से वरिष्ठ कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने आजम पर आरोप लगाये हैं। लाला ने राज्यपाल को भेजे पत्र में 14 आरोप लगाये, जिनमें से एक आरोप ये भी है कि आजम ने रामपुर में जौहर विश्वविद्यालय के नाम पर भूमि अतिक्रमण करने के मकसद से निर्दोष लोगों को अवैध रूप से विस्थापित कर दिया।

अब नेताओं के बीच जारी घमासान के मध्य आजम खान की ओर से योगी आदित्य नाथ को खन से लिखा खत भेजा गया है। खून से लिखा गया यह खत आजम खान के मीडिया प्रभारी फसाहत अली खां शानू ने लिखा है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक शानू ने योगी को लिखे खत में कहा, “आजम खान ने स्कूल और यूनिवर्सिटी बनाकर कोई गुनाह नहीं किया है। बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के लिए स्कूल और यूनिवर्सिटी खोले गए हैं, लेकिन इसको लेकर आए दिन जुबानी जंग हो रही है। जिससे वह आहत हैं। बीजेपी नेताओं के साथ सरकार भी यूनिवर्सिटी को निशाना बना रहा है।” शानू ने आगे लिखा- “हमसे जो भी बदला लेना हो, ले लिया जाए, लेकिन स्कूलों को निशाना ना बनाया जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग