ताज़ा खबर
 

गोआ के मुख्यमंत्री पारसेकर बोले- नाइजीरियाइयों से नाखुश हैं लोग

सुरजेवाला ने कहा कि उन्हें महसूस नहीं हो रहा है कि पूरे अफ्रीकी महाद्वीप के साथ अफ्रीका में महात्मा गांधी के संघर्ष सहित हमारा ऐतिहासिक रिश्ता रहा है।
Author पणजी | June 2, 2016 01:12 am
गोआ के बीजेपी के मुख्यमंत्री पारेसकर।

अफ्रीकी नागरिकों पर एक के बाद एक हुए हमले को लेकर केंद्र के नुकसान कम करने के प्रयासों के बीच गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने बुधवार को कहा कि नाइजीरियाइयों के अलग रवैए के कारण आम लोगों में गुस्सा है। उनकी इस टिप्पणी के बाद एक ताजा विवाद खड़ा हो गया है। पारसेकर ने बिना ब्योरा दिए बताया कि आमतौर पर लोग नाइजीरियाइयों से गुस्सा हैं, अन्य विदेशियों से नहीं। मुझे लगता है कि उनका एक अलग व्यवहार है। गोवा में एक नाइजीरियाई नागरिक के खिलाफ बलात्कार के हाल के आरोप और दिल्ली में नस्ली हमलों के एक सवाल पर मुख्यमंत्री प्रतिक्रिया दे रहे थे।

राज्य में भाजपा सरकार की अगुआई कर रहे पारसेकर ने बताया कि हमारे यहां अन्य सभी देशों के लोग आते हैं। लेकिन आमतौर पर गोवा के लोगों को उनके व्यवहार, रवैए, उनके जीवन जीने के तरीके को लेकर बहुत अधिक परेशानी है, क्योंकि कई अवसरों पर हमने नाइजीरियाई के खिलाफ शिकायतें सुनी हैं। उनकी टिप्पणी पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया सामने आई है। उसने आरोप लगाया है कि इससे भाजपा सरकार का ‘नस्ली रवैया’ परिलक्षित होता है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि पहले (एमओएस) वीके सिंह और अब भाजपा से ताल्लुक रखने वाले गोवा के मुख्यमंत्री ने नाइजीरिया समेत अफ्रीकी महाद्वीप के लोगों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की है।

सुरजेवाला ने कहा कि उन्हें महसूस नहीं हो रहा है कि पूरे अफ्रीकी महाद्वीप के साथ अफ्रीका में महात्मा गांधी के संघर्ष सहित हमारा ऐतिहासिक रिश्ता रहा है। जिस तरीके से हम पर्यटकों विशेषकर अफ्रीकी देशों के नागरिकों का अपमान कर रहे हैं, उससे भाजपा सरकार के नस्लवादी रवैए का पता चलता है। एक अन्य सवाल के जवाब में पारसेकर ने कहा कि राज्य सरकार राज्य में अवैध तरीके से रह रहे लोगों को एक स्थान पर रखने के लिए विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि न केवल नाइजीरियाई, बल्कि राज्य में अवैध रूप से रह रहे सभी विदेशियों को हम इस हिरासत स्थल पर रखेंगे। पारसेकर ने बताया कि हम उस जगह की तलाश कर रहे हैं, जहां उन्हें हिरासत में रख सकें। हम वर्तमान के किसी प्रतिष्ठान को ऐसे स्थल में परिवर्तित कर सकते हैं।

राष्ट्रीय राजधानी में कांगो के एक युवक की हत्या और हैदराबाद में 23 वर्षीय एक नाइजीरियाई छात्र पर कथित हमले सहित पिछले कुछ दिनों में अफ्रीकी नागरिकों पर शृंखलाबद्ध हमला किया गया है, जिस पर अफ्रीकी राजदूतों ने नाराजगी व्यक्त की है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को देशव्यापी संवेदीकरण अभियान चलाने सहित कई कदमों की घोषणा की। साथ ही उन्होंने कहा कि कांगो के एक युवक की हत्या एक ‘नस्ली अपराध’ नहीं है। विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह, विदेश सचिव एस जयशंकर और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सुषमा ने अफ्रीकी राजदूतों और छात्रों के एक समूह से दिल्ली में मुलाकात की थी। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत गांधी और बुद्ध की धरती है और इसने लगातार नस्लीय भेदभाव के खिलाफ लड़ाई लड़ी है जिसकी कभी नस्लीय मानसिकता नहीं हो सकती। भारत में कथित नस्ली हमलों को लेकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी चिंता जता चुके हैं।

गौरतलब है कि पारसेकर के बयान से दो दिन पहले गोवा के पर्यटन मंत्री दिलीप पारूलेकर ने कहा था, नाइजीरियाइयों की समस्या बस गोवा में नहीं बल्कि पूरे देश में है। वे यहां पढ़ने आते हैं। लेकिन वे समस्या खड़ी करते हैं और उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाता है। उन्होंने कहा था, वे गोवा और भारत में रहने की कोशिश करते हैं और मादक पदार्थ तस्करी और अन्य अवांछित कामों में लग जाते हैं। उन्होंने दो साल पहले पणजी के समीप पोरवोरिम में अशांत अफ्रीक्रियों द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग जाम करने की घटना को याद किया।

उन्होंने कहा, हमारा एक कठोर कानून होना चाहिए ताकि हम उन्हें वापस उनके देश भेज सकें, लेकिन दुर्भाग्य से फिलहाल भारत में ऐसा कानून नहीं है। नाइजीरियाइयों के प्रति गोवा सरकार के दृष्टिकोण की नवगठित गोवा फोरवार्ड समेत विपक्षी दलों ने आलोचना की है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को देशव्यापी संवेदीकरण अभियान चलाने सहित कई कदमों की घोषणा की। साथ ही उन्होंने कहा कि कांगो के एक युवक की हत्या एक ‘नस्ली अपराध’ नहीं है। विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह, विदेश सचिव एस जयशंकर और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सुषमा ने अफ्रीकी राजदूतों और छात्रों के एक समूह से दिल्ली में मुलाकात की थी। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत गांधी और बुद्ध की धरती है और इसने लगातार नस्ली भेदभाव के खिलाफ लड़ाई लड़ी है जिसकी कभी नस्ली मानसिकता नहीं हो सकती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.