December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

भुवनेश्वर: अस्पताल में आग के बाद चार कर्मचारी किए गए निलंबित

ओड़िशा के भुवनेश्वर में जिस निजी अस्पताल में भयंकर आग लगने से 20 मरीजों की मौत हो गयी।

Author भुवनेश्वर | October 18, 2016 18:46 pm
जिन अस्पतालों में घायलों को भेजा गया, उनके अधिकारियों ने आग में जान गंवाने वालों की संख्या 22 बतायी है।

ओड़िशा के भुवनेश्वर में जिस निजी अस्पताल में भयंकर आग लगने से 20 मरीजों की मौत हो गयी, उसके चार कर्मचारियों को आज निलंबित कर दिया गया तथा 100 से अधिक मरीज अन्य अस्पतालों में भेज दिए गए। उनमें ज्यादातर आग से बुरी तरह नष्ट हो गए सघन चिकित्सा कक्ष और डायलायसिस यूनिट के हैं। वैसे अधिकारिक रूप से 20 लोगों के मरने की पुष्टि की गयी है लेकिन कल रात जिन अस्पतालों में घायलों को भेजा गया, उनके अधिकारियों ने आग में जान गंवाने वालों की संख्या 22 बतायी है।

स्वास्थ्य सचिव आरती आहूजा ने बताया कि 106 मरीजों का शहर के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है जिन्हें कल रात भयंकर आग के बाद निजी सम अस्पताल से स्थानांतरित किया गया था। ऐसी खबर है कि उनमें कुछ की हालत नाजुक है। इन 106 मरीजों में ज्यादातर आईसीयू और डायलायसिस यूनिट से हैं।

आग के शिकार सम अस्पताल का दौरा कर चुकीं स्वास्थ्य सचिव आरती आहूजा ने बताया कि यहां के कैपिटल अस्पताल और एएमआरआई अस्पतालों में क्रमश: 14 और पांच शव लाए गए। एम्स भुवनेश्वर के प्रवक्ता ने बताया कि एक मौत की खबर उनके अस्पताल से है।
एक अधिकारी ने बताया कि चार मंजिले सम अस्पताल में ज्यादातर मौतें दम घुटने से हुईं। आईसीयू में ज्यादातर मरीज जीवनरक्षक प्रणाली पर थे।इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंसेज और सम अस्पताल चलाने वाले शिक्षा ‘ओ’ अनुसंधान विश्वविद्यालय ने अपने चार कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है और आग में जान गंवाने वाले व्यक्तियों के परिवारों के लिए पांच पांच लाख रूपए की अनुग्रह राशि घोषित की है। इससे पहले मुख्यमंत्री नवीन पटनायक मरीजों का हालचाल जानने एम्स और एएमआरआई अस्पताल पहुंचे। इन मरीजों को सम अस्पताल में आगजनी के बाद इलाज के लिए यहां लाया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 18, 2016 6:45 pm

सबरंग