ताज़ा खबर
 

‘आप’ की रैली में किसान ने की खुदकुशी

आम आदमी पार्टी (आप) की ओर ये यहां जंतर-मंतर पर भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आयोजित रैली के दौरान एक किसान ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली...
Author April 22, 2015 16:55 pm
गजेंद्र सिंह के परिजनों ने साजिश की आशंका जताते हुए कहा कि वह (गजेन्द्र) ऐसा कर ही नहीं कर सकता और उसे किसी ने उकसाया होगा।

आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से यहां जंतर-मंतर पर भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आयोजित रैली के दौरान एक किसान ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। रैली में उस समय दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मौजूद थे।

इस किसान की पहचान गजेंद्र सिंह के रूप में हुई है। वह जंतर-मंतर पर आप नेताओं की मौजूदगी में पेड़ पर चढ़ गया और गमछे से खुद को फांसी लगा ली। कुछ लोग उसे बचाने के लिए पेड़ पर चढ़े लेकिन डाल टूट गई और वह नीचे गिर गया। उसे राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मौके से एक कथित सुसाइट नोट बरामद किया गया जिसमें उसने कहा कि वह किसान है और उसकी फसल बर्बाद हो गई है। उसने परिवार का फोन नंबर भी लिखा था।

यह घटना दोपहर करीब दो बजे हुई जहां केजरीवाल भी मौजूद थे। आप के वरिष्ठ नेताओं का आरोप है कि यह रैली को नुकसान पहुंचाने का प्रयास था और ‘मूकदर्शक बने रहने’ को लेकर पुलिस पर भी निशाना साधा।

केजरीवाल ने कहा, ‘‘हम पुलिस से कहते रहे कि उसे नीचे उतारा जाए। पुलिस हमारे नियंत्रण में भले नहीं हो लेकिन उनमें कुछ मानवता होनी चाहिए थी। मैं मनीष सिसोदिया के साथ अस्पताल पहुंच रहा हूं।’’

अपने भाषण के बाद केजरीवाल अस्पताल पहुंचे जहां सिंह को मृत घोषित कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. V
    Vinay Yadav
    Apr 23, 2015 at 9:55 am
    आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से यहां जंतर-मंतर पर भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आयोजित रैली के दौरान एक किसान ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। रैली में उस समय दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मौजूद थे। इस किसान की पहचान गजेंद्र सिंह के रूप में हुई है। वह जंतर-मंतर पर आप नेताओं की मौजूदगी में पेड़ पर चढ़ गया और गमछे से खुद को फांसी लगा ली। कुछ लोग उसे बचाने के लिए पेड़ पर चढ़े लेकिन डाल टूट गई और वह नीचे गिर गया। उसे राम मनोहर लो
    Reply
सबरंग