December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

छत्तीसगढ़: नोट नहीं बदलने से परेशान किसान ने की खुदकुशी

प्रधान अपने बेटों को तत्काल पैसे नहीं भेज पाने के कारण परेशान था।

Author रायगढ़ | November 15, 2016 00:33 am
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा जारी किए गए 500 रुपए के नए नोट। (Photo: PTI)

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में पांच सौ और एक हजार रुपए के नोटों के चलन से बाहर होने के बाद कथित रूप से बैंक से नोट नहीं बदल पाने से परेशान किसान ने आत्महत्या कर ली है। जिले के पुलिस अधिकारियों ने सोमवार (14 नवंबर) को यहां बताया कि जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर दूर सरिया थाना क्षेत्र के महाराजपुर गांव में शनिवार की देर रात रवि प्रधान (45) ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। प्रधान की पत्नी पुष्पलता के अनुसार तमिलनाडु में फंसे दोनों बेटों की आर्थिक मदद के लिए प्रधान पिछले दो दिनों से स्टेट बैंक की सरिया शाखा में तीन हजार रुपये के पांच सौ के नोट बदलवाने के लिए लाईन में लगता था। लेकिन शाम तक उसका नंबर नहीं आ पाने के कारण नोट नहीं बदलने से वह परेशान था।

उन्होंने बताया कि उसके दोनों बेटे सुनील (22) और अनिल (20) तमिलनाडु के एक सूत कारखाने में काम करते हैं। तीन दिनों पहले उसके बड़े बेटे सुनील का फोन आया था कि ठेकेदार संतोष उनकी मजदूरी समेत सारे पैसे लेकर भाग गया है। उन्हें पैसों की जरुरत है, वे घर लौटना चाहते हैं। तत्काल पैसे भेजे। प्रधान अपने बेटों को तत्काल पैसे नहीं भेज पाने के कारण परेशान था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि रवि प्रधान की तबीयत खराब थी तथा उसका इलाज चल रहा था। घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है और अभी तक की पुलिस जांच में नोट बदली नहीं होने के कारण खुदकुशी की बात सामने नहीं आई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

नोटबंदी पर अखिलेश यादव का बयान- “पीएम मोदी आम आदमी के दर्द से बेखबर”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 15, 2016 12:33 am

सबरंग