December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

पूर्व पार्षद के बेटे ने RTI कार्यकर्ता की हत्या कबूली

पूर्व पार्षद रज्जाक खान के बेटे अमजद खान ने दावा किया है कि उसने आरटीआइ कार्यकर्ता भूपेंद्र वीरा को गोली मार कर हत्या कर दी, लेकिन उसके पिता को हत्या के षड्यंत्र की जानकारी नहीं थी।

Author मुंबई | October 21, 2016 00:32 am

पूर्व पार्षद रज्जाक खान के बेटे अमजद खान ने दावा किया है कि उसने आरटीआइ कार्यकर्ता भूपेंद्र वीरा को गोली मार कर हत्या कर दी, लेकिन उसके पिता को हत्या के षड्यंत्र की जानकारी नहीं थी। हालांकि मुंबई पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) संजय सक्सेना ने कहा, ‘हम आरोपी के दावे का सत्यापन करेंगे। उसके बयान को ऐसे ही नहीं मान लेंगे। हम पूर्व पार्षद की भूमिका की पड़ताल करेंगे।’ वकोला में आरोपी के घर से देसी पिस्तौल जब्त की गई है। सक्सेना ने कहा, ‘हम पता लगाएंगे कि हथियार का इस्तेमाल अपराध को अंजाम देने में किया गया था या नहीं।’ कलीना और उसके आसपास के इलाकों में अतिक्रमण और अनधिकृत निर्माण का खुलासा करने वाले 72 साल के आरटीआइ कार्यकर्ता की 15 अक्तूबर की रात को सांताक्रूज स्थित उनके आवास पर करीब से गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। वे उस वक्त टीवी देख रहे थे। वकोला पुलिस ने सोमवार को बीएमसी के पूर्व पार्षद रज्जाक खान (78) और उनके बेटे अमजद खान (53) को हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। वीरा के परिवार के सदस्यों ने शिकायत में दोनों का नाम लिया, जिनके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।


सूत्रों के अनुसार सांताक्रूज से कांग्रेस के पूर्व पार्षद रज्जाक को वीरा की शिकायत पर इलाके में चार अवैध संपत्तियों को गिराने का आदेश लोकायुक्त से मिला था। जिसके कुछ घंटे बाद आरटीआइ कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद एक गवाह ने अमजद और रज्जाक को वीरा के घर के पास देखा था। अधिकारियों के मुताबिक पूछताछ में यह पता चला कि वीरा की दायीं कनपटी पर करीब से केवल एक गोली मारी गई थी। अधिकारियों ने कहा कि वीरा ने आरटीआइ अर्जी दाखिल कर रज्जाक के अवैध निर्माणों और जमीन कब्जाने के मामलों पर जानकारी मांगी थी। इसके बाद इमारतों को गिराने के लोकायुक्त के आदेश से पूर्व पार्षद और उसका बेटा दोनों ही हताश थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 21, 2016 12:29 am

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग