ताज़ा खबर
 

गले में सांप लपेटे बिहार के शिक्षा मंत्री की फोटोज हुईं वायरल, बीजेपी बोली-अंधविश्‍वास को बढ़ावा दे रहे मंत्री

महागठबंधन के हिस्‍सेदार आरजेडी और जेडीयू चौधरी का बचाव करने से कतराते नजर आ रहे हैं।
Author पटना | January 17, 2016 19:06 pm
बिहार के शिक्षामंत्री की ऐसी फोटोज खूब शेयर हो रही हैं।

बिहार के एजुकेशन और आईटी मंत्री व राज्‍य कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष अशोक चौधरी की सांप के साथ कुछ तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। बताया जाता है कि ये फोटोज उनके पटना स्‍थ‍ित घर पर हुई एक पूजा के दौरान की है। बीजेपी ने मंत्री पर हमलावर रुख अपनाते हुए कहा है कि इस तरह की हरकतों से वे अंधविश्‍वास को बढ़ावा दे रहे हैं। कांग्रेस को चौधरी की इस फोटो पर कोई आपत्‍त‍ि नहीं है। हालांकि, महागठबंधन के हिस्‍सेदार आरजेडी और जेडीयू चौधरी का बचाव करने से कतराते नजर आ रहे हैं। जेडीयू ने तो यहां तक कह दिया कि वैज्ञानिक दुनिया में अंधविश्‍वास की कोई जगह नहीं है।

तस्‍वीर में अशोक चौधरी गले में सांप लपेटे नजर आ रहे हैं। एक अन्‍य फोटो में वे राज्‍य कांग्रेस के उपाध्‍यक्ष सुबोध कुमार के साथ सांप से आशीर्वाद लेते दिख रहे हैं। कुमार सांप के सामने हाथ जोड़कर खड़े नजर आते हैं। अशोक चौधरी ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से बातचीत में कहा, ”मैं किसी तरह के अंधविश्‍वास के खिलाफ हूं। ये तस्‍वीरें पुरानी हैं, जो पार्टी के ही एक नेता के फेसबुक अकाउंट से डाउनलोड की गई हैं। मेरे घर पर सपेरे आए थे और उन्‍होंने बच्‍चों के मनोरंजन के लिए मेरे गले में सांप लपेट दिया था। उनका कहना था कि सांप से खतरा नहीं है। मैंने सपेरों को सलाह दी थी कि वे यह काम छोड़कर दूसरा पेशा अपनाएं। इस मामले को जानबूझकर तूल दिया जा रहा है।” वहीं, कांग्रेस के प्रदेश उपाध्‍यक्ष सुबोध कुमार ने इसके उलट बयान दिया। उन्‍होंने कहा, ”हमारे अध्‍यक्ष ने मकर सक्रांति के मौके पर विशेष पूजा आयोजित की थी। इसमें भगवान शिव की पूजा की गई। ऐसे में नाग देवता से आशीर्वाद लेने की परंपरा है।”

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. O
    Om Parkash Puri
    Aug 13, 2016 at 11:51 am
    बिहार के शिक्षा मन्त्री व कांगरेस नेता आशोक चौधरी के बारे कांगरेस ने यह सोचना चाहिये, क्या एेसे अन्ध विश्वास करने वाले मन्त्री के लिये यह उचित हैं? इस मन्त्री से दलित वर्ग नाराज़ है, कांगरेस और बीजेपी की सोच में क्या अन्तर है? मेरा कहना है, कांगरेस अपना पार्टी केडर सिद्धान्त और काम करने का तरीकाछोड गई है, यही कारण है, लोगों में बीजेपी वर्कर्ज और कांगरेस वर्कर्ज के काम और सोच में कोई अन्तर नज़र नही आता, इस लिये लोग कांगरेस छोड कर बीजेपी में चले जाते हैं, मन्तरी जी को सुधारने की ज़रूरत है।
    Reply
सबरंग