ताज़ा खबर
 

संसदीय समिति को दिया जाएगा सरहद पार हमले का ब्योरा

विदेश सचिव व डीजीएमओ सहित शीर्ष अधिकारी नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर सेना द्वारा किए गए लक्षित हमलों के बारे में 18 अक्तूबर को सांसदों की एक समिति को जानकारी देंगे।
Author नई दिल्ली | October 17, 2016 03:04 am

विदेश सचिव व डीजीएमओ सहित शीर्ष अधिकारी नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर सेना द्वारा किए गए लक्षित हमलों के बारे में 18 अक्तूबर को सांसदों की एक समिति को जानकारी देंगे। कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता वाली इस समिति में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हैं। विदेश मामलों की इस स्थाई संसदीय समिति की बैठक मंगलवार को होगी जिसमें हालिया लक्षित हमलों के खास संदर्भ के साथ भारत पाकिस्तान संबंधों के बारे में बताया जाएगा।
18 अक्तूबर को बैठक होने के बारे में लोकसभा सचिवालय से जारी एक नोटिस में कहा गया है कि नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर किए गए लक्षित हमलों के विशेष संदर्भ सहित भारत पाक संबंधों पर विदेश सचिव, गृह सचिव, रक्षा सचिव और सैन्य अभियानों के महानिदेशक (डीजीएमओ) जानकारी देंगे। यह बैठक इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि सरकार ने पूर्व में रक्षा मामलों की संसदीय समिति को इसी विषय पर जानकारी देने के बारे में आपत्तियां जताई थीं।


बहरहाल शुरुआती अनिच्छा के बाद वाइस चीफ आॅफ आर्मी स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत ने भाजपा सांसद बीसी खंडूड़ी की अगुआई वाली रक्षा समिति को लक्षित हमलों के बारे में बताया था। उड़ी स्थित सैन्य ठिकाने पर सशस्त्र पाकिस्तानी आतंकवादियों ने 18 सितंबर को हमला किया था। जिसमें 19 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। जवाबी कार्रवाई के तौर पर भारतीय सेना ने 28 और 29 सितंबर की मध्य रात्रि को नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर मौजूद आतंकियों के शिविरों पर लक्षित हमले किए थे। इस मुद्दे पर तब से ही सत्ता पक्ष और विपक्षी दलों के बीच तकरार जारी है। उधर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सैनिकों के बलिदानों का राजनीतिक लाभ लेने का आरोप लगाया है। उनकी खून की दलाली वाली टिप्पणी की सरकार, भाजपा और अन्य दलों ने तीखी आलोचना की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग