ताज़ा खबर
 

पद्मनाभ स्वामी मंदिर में चोरी की सीबीआई से जांच की मांग

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के दिग्गज एवं पूर्व मुख्यमंत्री वीएस अच्युतानंदन ने शुक्रवार को प्रसिद्ध श्री पद्मनाभ स्वामी मंदिर से सोने के आभूषण एवं पात्रों की कथित चोरी की सीबीआइ जांच की मांग की।
Author तिरूवनंतपुरम | August 20, 2016 04:35 am
मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के दिग्गज एवं पूर्व मुख्यमंत्री वीएस अच्युतानंदन ने शुक्रवार को प्रसिद्ध श्री पद्मनाभ स्वामी मंदिर से सोने के आभूषण एवं पात्रों की कथित चोरी की सीबीआइ जांच की मांग की।

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के दिग्गज एवं पूर्व मुख्यमंत्री वीएस अच्युतानंदन ने शुक्रवार को प्रसिद्ध श्री पद्मनाभ स्वामी मंदिर से सोने के आभूषण एवं पात्रों की कथित चोरी की सीबीआइ जांच की मांग की। च्युतानंदन ने यहां एक बयान में कहा, ‘पता चला है सदियों पुराने मंदिर के गुप्त खजाने से 186 करोड़ रुपए मूल्य के सोने के सामान चोरी हो गए हैं।
मार्क्सवादी नेता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त न्यायमित्र और पूर्व कैग प्रमुख विनोद राय की अध्यक्षता वाली समिति दोनों एक ही निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि सोने का बहुमूल्य सामान चोरी हो गया है। उन्होंने कहा, ‘ऐसी स्थिति में, जो भी इस चोरी के पीछे हैं उनका पर्दाफाश होना चाहिए। इसकी सीबीआइ से जांच कराए जाने की जरूरत है।’

अच्युतानंदन ने कहा कि उन्होंने करीब एक साल पहले सार्वजनिक रूप से इस मंदिर में ऐसी चोरी होने की बात कही थी। उन्होंने कहा, ‘लेकिन, उस समय बहुत से लोगों ने मुझ पर गलत आरोप लगाने का प्रयास किया था।’ उन्होंने कहा न्यायमित्र और पूर्व कैग प्रमुख की अगुवाई वाली समिति ने इन लोगों का मुंह बंद करा दिया है। उल्लेखनीय है कि विनोद राय की प्रमुखता वाली समिति ने मंदिर के खर्चो में ‘अप्रत्याशित’ बढ़ोतरी पाई थी, जबकि करीब 186 करोड़ रुपए के सोने के पात्र लापता थे। इसके अलावा इस समिति ने इस अनियमितता की जांच के लिए एक समिति बनाने का सुझाव दिया था।

इस समय दक्षिण भारत के सबसे समृद्ध मंदिरों में शामिल इस मंदिर का प्रबंधन सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त समिति कर रही है क्योंकि प्रबंधन संबंधी मामलों का एक मुकदमा न्यायालय में लंबित है। प्रबंधकीय समिति के प्रमुख जिला एवं सत्र न्यायाधीश हैं। उल्लेखनीय है कि करीब चार साल पहले पद्मनाभ स्वामी मंदिर के तहखाने में करोड़ों रुपए का गुप्त खजाना मिलने से इस मंदिर को अंतरराष्ट्रीय तौर पर प्रसिद्धि मिली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग