ताज़ा खबर
 

शेख मुजीब-उर-रहमान के नाम पर रखा गया दिल्ली की पार्क स्ट्रीट सड़क का नाम

नई दिल्ली की पार्क स्ट्रीट सड़क का नाम बदलकर बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीब-उर-रहमान के नाम पर रख दिया गया है।
Author नई दिल्ली | April 7, 2017 02:34 am
नई दिल्ली की पार्क स्ट्रीट सड़क का नाम बदलकर बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीब-उर-रहमान के नाम पर रख दिया गया है। (File Pic)

नई दिल्ली की पार्क स्ट्रीट सड़क का नाम बदलकर बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीब-उर-रहमान के नाम पर रख दिया गया है। एनडीएमसी ने नाम बदलने की प्रक्रिया को बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के यहां चार दिन की यात्रा पर पहुंचने से एक दिन पहले मंजूरी दे दी है। हसीना मुजीब-उर-रहमान की बेटी हैं और यहां पर रेल, सड़क और जल संपर्क बढ़ाने सहित विभिन्न मुद्दों पर कई बैठकें करेंगी। इस फैसले से नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् (एनडीएमसी) का मकसद अपने दोस्ताना रुख का परिचय देने का है।
एनडीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शेख हसीना की यात्रा से पहले बांग्लादेश के संस्थापक बंगबंधु शेख मुजीब-उर-रहमान के नाम पर पार्क स्ट्रीट का नाम रखने का फैसला किया गया है। यह एक दोस्ताना रुख है क्योंकि भारत बांग्लादेश के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध साझा करता है’। उन्होंने कहा कि इस फैसले पर विशेष व्यवस्था (सर्कुलर प्रस्ताव) के जरिए पहुंचा गया क्योंकि परिषद् की बैठक वक्त की कमी की वजह से नहीं बुलाई जा सकी और एमसीडी चुनाव के कारण आदर्श आचार संहिता भी लगी हुई है।

रहमान बांग्लादेश के मुक्त आंदोलन में केंद्रीय शख्सियत रहे हैं और वे बांग्लादेश के दो बार राष्ट्रपति रहे हैं। उन्होंने कोलकाता के मौलाना आजाद कॉलेज से कानून की पढ़ाई की थी और वहां पर छात्र राजनीति में शामिल हुए थे। एनडीएमसी के अधिकारियों के मुताबिक, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित परिषद् के 12 सदस्य प्रस्ताव पर सहमत थे जबकि दिल्ली छावनी से आप के विधायक सुरिंदर सिंह ने अपनी सहमति देने से इनकार कर दिया। एनडीएमसी के उपाध्यक्ष करण सिंह तंवर ने कहा कि नाम का बोर्ड बदलने का काम गुरुवार रात किया जाएगा ताकि यह तय हो जाए कि बांग्लादेशी प्रधानमंत्री के शुक्रवार पहुंचने से पहले काम पूरा हो जाए।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना शुक्रवार दोपहर चार दिवसीय भारत दौरे पर पहुंचेंगी। उनकी यात्रा के मद्देनजर राजनयिक और प्रशासनिक तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया है। नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के आसपास सड़कों पर उनके स्वागत में बोर्ड लगाए गए हैं। उनकी यात्रा में दोनों देशों के बीच 35 समझौतों पर दस्तखत किए जाएंगे। भारत की ओर से पड़ोसी देश को 325 अरब डॉलर के आसान किस्तों पर कर्ज की घोषणा की संभावना है। साथ ही, त्रिपुरा से ढाका तक हाई स्पीड डीजल की आपूर्ति के लिए पाइप लाइन बिछाने की परियोजना का ऐसा किया जाएगा। केंद्रीय भारी उद्योग और सरकारी उपक्रम राज्य मंत्री बाबुल सुप्रीयो को वायुसेना पालम हवाईअड्डे पर शेख हसीना का स्वागत कर राष्ट्रपति भवन पहुंचाने की जिम्मेदारी दी गई है। दोपहर 12 बजे उनका विमान यहां उतरेगा। शनिवार सुबह राष्ट्रपति भवन में उनका औपचारिक राजकीय स्वागत किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति भवन में ही उनका स्वागत करेंगे। दोनों नेताओं के बीच शनिवार को द्विपक्षीय वार्ता होगी। भारत सरकार की ओर से केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को बांग्लादेश के पत्रकारों से मुलाकात कर उन्हें दौरे का विस्तृत ब्योरा दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग