ताज़ा खबर
 

मायावती को अपशब्द कहनेवाले दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह UP बीजेपी महिला मोर्चा की अध्यक्ष बनीं

दयाशंकर सिंह के निष्कासन के बाद स्वाति सिंह ने अपने और बेटी के खिलाफ दिए गए आपत्त‍िजनक बयानों पर जिस तरह बीएसपी पर हल्ला बोला था, उससे वे रातोंरात चर्चा में आ गईं थीं।
भाजपा से निष्कासित दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती को अपशब्द कहनेवाले दयाशंकर सिंह की पत्‍नी स्‍वाति सिंह को उत्तर प्रदेश महिला मोर्चा का अध्‍यक्ष बनाया है। प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चन्द्रमोहन के मुताबिक, पार्टी ने अनुसूचित जाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष सांसद कौशल किशोर को, अनुसूचित जनजाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष सांसद छोटे लाल खरवार को, अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष हैदर अब्बास चांद को बनाया है। गौरतलब है कि दयाशंकर सिंह को बीजेपी ने 6 साल के लिए पार्टी निष्कासित कर दिया था।

दयाशंकर सिंह के निष्कासन के बाद स्वाति सिंह ने अपने और बेटी के खिलाफ दिए गए आपत्त‍िजनक बयानों पर जिस तरह बीएसपी पर हल्ला बोला था, उससे वे रातोंरात चर्चा में आ गईं थीं। इसके बाद से ही बीजेपी में उनको बड़ी जिम्मेदारी देने की चर्चा चल रही थी। दयाशंकर सिंह ने जेल से रिहा होने के बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती को अपनी पत्नी स्वाति सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती दी थी। दयाशंकर सिंह ने कहा था कि ‘मायावती चुनाव लड़ने के लिये उत्तर प्रदेश में कोई भी सामान्य सीट चुन लें। मैं अपनी पत्नी को वहीं से चुनाव लड़ाउंगा।’

वीडियो देखिए: राहुल गांधी के बयान पर लोगों की प्रतिक्रिया

आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दयाशंकर सिंह और उनकी पत्नी स्वाति सिंह पब्लिक मीटिंग कर बीएसपी को घेरने की कोशिश में हैं। दयाशंकर और उनकी पत्नी अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के बैनर तले काम कर रहे हैं, जिसके अध्यक्ष अपना दल के सांसद हरिबंश सिंह हैं। अपना दल का बीजेपी के साथ गठबंधन है। वे पहले भी कह चुके हैं कि वह किसी भी गैर-राजनीतिक संगठन और ग्रुप से सपोर्ट लेने के लिए स्वंतत्र है।

दयाशंकर सिंह इसी साल जुलाई महीने में यूपी बीजेपी के उपाध्‍यक्ष बनाए गए थे। इसके कुछ दिन बाद उन्‍होंने एक विवादास्‍पद बयान दिया। उन्‍होंने कथित तौर पर मायावती की तुलना वेश्या से की थी। इसके बाद, मायावती ने यह मामला राज्‍यसभा में उठाया था। संसद में हंगामा होने के बाद बीजेपी तुरंत बैकफुट पर आ गई। सदन में अरुण जेटली ने निजी तौर पर दुख जताया था। इसके बाद पार्टी ने पहले दयाशंकर को सस्‍पेंड किया और बाद में छह साल के लिए पार्टी से बाहर का रास्‍ता दिखा दिया था।

Read Also-बैठकों के जरिए बसपा पर हमले कर रही हैं दयाशंकर सिंह की पत्‍नी, सीधे मायावती से ले रहीं टक्‍कर

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग