ताज़ा खबर
 

आंबेडकर की मूर्ति को लेकर दलितों और पुलिस में भिड़ंत, 23 महिलाओं समेत कई घायल

उत्तराखंड के सीमांत जिले हरिद्वार के लक्सर तहसील के लक्सरी गांव में नगर पंचायत की जमीन पर कब्जे को लेकर दलित समुदाय और पुलिस के बीच जबरदस्त पथराव हुआ..

उत्तराखंड के सीमांत जिले हरिद्वार के लक्सर तहसील के लक्सरी गांव में नगर पंचायत की जमीन पर कब्जे को लेकर दलित समुदाय और पुलिस के बीच जबरदस्त पथराव हुआ। पुलिस ने पथराव कर रही भीड़ पर काबू पाने के लिए जमकर लाठीचार्ज किया। हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए करीब 50 राउंड गोलियां हवा में दागीं। इस घटना में दलित समुदाय के 50 से ज्यादा लोग और एक दर्जन से ज्यादा पुलिसवाले घायल हो गए। घायलों में 23 दलित महिलाएं भी शामिल हैं।

रविवार सुबह करीब 12 बजे लक्सर के लक्सरी गांव में नगर पंचायत की जमीन पर दलित समुदाय और पुलिस के बीच आंबेडकर की मूर्ति को हटाने को लेकर विवाद हो गया। इस मूर्ति को जब पुलिस वाले हटाने लगे तो दलित समुदाय के लोंगों ने पुलिस वालों पर पथराव किया और उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। पुलिस वाले अपनी जान बचाकर लक्सर थाने पहुंचे। जिला पंचायत चुनाव को लेकर जिलाधिकारी हरिद्वार हरवंश सिंह चुघ और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई पुलिस प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ सोमवार को होने वाले चुनाव की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। जब उन्हें इस घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने भारी पुलिस बल के साथ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को मौके पर भेजा। हिंसक भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस वालों ने जब लाठीचार्ज किया तो बेकाबू भीड़ और उग्र हो गई और पुलिस पथराव शुरू कर दिया। इसमें पुलिस उपाधीक्षक हरिद्वार चंद्रमोहन सिंह नेगी, सीओ लक्सर आरएस मरतोलिया और पुलिस इंस्पेक्टर जयदेव सिंह आर्य और उमेश कुमार घायल हो गए।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक नगर पंचायत लक्सर के अधिशासी अधिकारी एसपी जोशी ने जिलाधिकारी और एसएसपी हरिद्वार को यह शिकायत दर्ज की कि नगर पंचायत के लक्सरी गांव में पंचायत की भूमि पर दलित समुदाय के लोगों ने आंबेडकर की मूर्ति स्थापित कर दी है। दोनों अधिकारियों ने पुलिस वालों को यह मूर्ति हटाने के निर्देश दिए। जब पुलिस वाले यह मूर्ति हटाने गए तो यह विवाद हिंसक हो गया। फिलहाल पुलिस ने पंचायत की जमीन से मूर्ति हटाकर कोतवाली लक्सर में रख दी है। बलवा करने के आरोप में पुलिस ने दलित समुदाय के 50 लोगों को मुकदमा दर्ज कर गिरफतार किया है। जिसमें 23 महिलाएं शामिल हैं।

जोशी के मुताबिक लक्सरी गांव में पंचायत की भूमि को लेकर सिविल कोर्ट में दलित समुदाय के चांदमल नामक व्यक्ति से विवाद चल रहा है। शनिवार रात दलित समुदाय के कुछ लोगों ने पंचायत की जमीन पर कब्जा करने की नीयत से वहां पर प्रशासन की इजाजत के बिना आंबेडकर की मूर्ति स्थापित कर दी थी। जिलाधिकारी ने बताया कि किसी अन्य जगह की तलाश कर वहां पर आंबेडकर की मूर्ति स्थापित की जाएगी। इस पर दलित समुदाय ने सहमति जताई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.