ताज़ा खबर
 

रोक के बावजूद BJP और शिवसेना नेताओं ने बिसाहड़ा में की महापंचायत, अखलाक के परिवार पर FIR की मांग

महापंचायत उसी मंदिर में बुलाई गई जिससे पुजारी ने भीड़ को बीफ खाने के आरोप में मोहम्‍मद अखलाक को निशाना बनाने के लिए उकसाया था।
नोएडा के बिसाहड़ा गांव में रोक के बावजूद भाजपा और शिवसेना नेताओं ने महापंचायत बुलाई। (Photo: Gejendra Yadav)

नोएडा के बिसाहड़ा गांव में रोक के बावजूद भाजपा और शिवसेना नेताओं ने महापंचायत बुलाई। महापंचायत उसी मंदिर में बुलाई गई जिससे पुजारी ने भीड़ को बीफ खाने के आरोप में मोहम्‍मद अखलाक को निशाना बनाने के लिए उकसाया था। गौतम बुद्ध नगर के जिला मजिस्‍ट्रेट एनपी सिंह ने सोमवार को यहां पर धारा 144 लगा दी थी। साथ ही पांच या इससे ज्‍यादा लोगों के इकट्ठा होने पर रो लगार्इ थी। स्‍थानीय भाजपा नेता संजय राणा ने रविवार को अखलाक के परिवार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने पर महापंचायत बुलाने की चेतावनी दी थी।

महापंचायत के दौरान लोगों ने 20 दिन के अंदर अखलाक के परिवार पर मामला दर्ज करने और उसे पीट पीटकर मार डालने के आरोपियों से मामला वापस लेने की मांग की। इस दौरान 50 के करीब लोग इकट्ठा हुए। महापंचायत में कुछ लोगों ने राज्‍य सरकार की ओर से अखलाक के परिवार को दी गई मदद को वापस लेने की मांग भी की। मांगें नहीं माने जाने पर 144 राजपूत गांवों की महापंचायत बुलाने की चेतावनी दी गई है। मामले में आरोपी विशाल राणा के पिता संजय राणा ने कहा कि उनके बच्‍चों के साथ अपराधियों की तरह व्‍यवहार किया गया। अखलाक के परिवार के साथ भी ऐसा ही व्‍यवहार हो।

BJP MLA संगीत सोम बोले- गोवध करने वाले अखलाक के परिवार को भेजो जेल

गौरतलब है कि पिछले साल बीफ खाने के आरोप में बिसाहड़ा गांव में भीड़ ने मोहम्‍मद अखलाक नाम के शख्‍स की पीट पीटकर हत्‍या कर दी थी। इस घटना के बाद पूरे देश में काफी बवाल हुआ था। इस मामले में आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया था। हाल ही में आगरा की फोरेंसिक लैब ने बताया कि जो मांस अखलाक के घर से मिला वह बीफ था। इसके बाद यह मामला फिर से उठा है।

बोले महंत आदित्यनाथ- अखलाक के परिवार से वापस लो फ्लैट और मुआवजा, गिरफ्तार लोगों को करो रिहा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.