ताज़ा खबर
 

अखलाक के परिवार के खिलाफ FIR को माकपा ने बताया षड्यंत्र, सीएम ने मांगी सुरक्षा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से शुक्रवार को बात करने वालीं करात ने कहा कि अखलाक के परिवार के खिलाफ याचिका देने वाले लोग पूरी तरह गलत आरोप लगा रहे हैं और अदालत के समक्ष उन्होंने पर्याप्त सबूत पेश नहीं किए हैं।
Author नई दिल्ली | July 17, 2016 05:04 am
गोमांस खाने की अफवाह फैलने के बाद आक्रोशित भीड़ के हमले में मोहम्मद अखलाक की मौत हो गई थी। (फाइल फोटो)

मोहम्मद अखलाक के परिवार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने के बाद माकपा ने शनिवार को आरोप लगाया कि यह भाजपा की तरफ से किया गया ‘षड्यंत्र’ है और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से आग्रह किया कि आवश्यक कदम उठाएं और उनके रिश्तेदारों को सुरक्षा मुहैया कराएं।

यादव को लिखे पत्र में माकपा पोलित ब्यूरो की सदस्य बृंदा करात ने कहा कि अखलाक की हत्या में कथित तौर पर शामिल लोग उसके परिवार के सदस्यों पर दबाव बना रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं आपसे आग्रह करती हूं कि तय करें कि सरकारी अभियोजन मामले पर उपयुक्त तरीके से गौर करे और न्यायिक प्रक्रिया में विलंब नहीं होना चाहिए’। उन्होंने कहा, ‘चूंकि इस मामले में परिवार के सदस्य गवाह हैं, इसलिए उन्हें धमकी दी जा रही है ताकि वे मामले से हट जाएं। उनके सार्वजनिक बयान से स्पष्ट है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता अखलाक के परिवार को निशाना बनाने में संलिप्त हैं’।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से शुक्रवार को बात करने वालीं करात ने कहा कि अखलाक के परिवार के खिलाफ याचिका देने वाले लोग पूरी तरह गलत आरोप लगा रहे हैं और अदालत के समक्ष उन्होंने पर्याप्त सबूत पेश नहीं किए हैं जो सीआरपीसी की धारा 156 (3) का घोर दुरुपयोग है। करात ने कहा कि इस तरह के दुरुपयोग को पुलिस और प्रशासन रोक सकते थे, अगर उचित कार्रवाई की गई होती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. शोम रतूड़ी
    Jul 17, 2016 at 1:44 pm
    CPM वाले अभी भी USSR वाले दौर में जी रहे हैं,कोई इनको बताये वहां राज्य सरकार समाजवादी पार्टी की है,अखलाग के परिवार के खिलाफ FIR दायर करने का आदेश अदालत ने दिया फिर इसमें बीच में बीजेपी कहाँ से आ गयी.अखिलेश को ज्ञान देने की जरूरत नही है पीड़ित परिवार मुस्लिम है जो उनका वोट बैंक है तो वे इसमें क्यूँ कोताही बरतेंगे .
    Reply
सबरंग