December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

अदालत ने आप विधायक गुलाब सिंह को न्यायिक हिरासत में भेजा

आम आदमी पार्टी के विधायक और पार्टी के गुजरात मामलों के प्रभारी गुलाब सिंह यादव को जबरन वसूली के एक मामले में दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

Author नई दिल्ली | October 19, 2016 02:25 am
AAP Delhi MLA and party’s Gujarat in-charge Gulab Singh Yadav (Centre) addressing mediapersons at the Circuit House Annexe here, announcing cancellation of Delhi CM Arvind Kejriwal’s July visit to Gujarat. Express photo by javed raja *** Local Caption *** AAP Delhi MLA and party’s Gujarat in-charge Gulab Singh Yadav (Centre) addressing mediapersons at the Circuit House Annexe here, announcing cancellation of Delhi CM Arvind Kejriwal’s July visit to Gujarat. Express photo by javed raja

आम आदमी पार्टी के विधायक और पार्टी के गुजरात मामलों के प्रभारी गुलाब सिंह यादव को जबरन वसूली के एक मामले में दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। अदालत ने विधायक से हिरासत में पूछताछ की पुलिस की याचिका को खारिज कर दिया। यादव को गुजरात में गिरफ्तार किया गया था और ट्रांजिट रिमांड पर यहां लाया गया। उन्हें मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रट किशोर कुमार के सामने पेश किया गया, जिन्होंने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पुलिस ने दिल्ली के मटियाला से विधायक सिंह की पांच दिन की हिरासत की मांग करते हुए कहा था कि उन्हें विधायक से पूछताछ करनी होगी क्योंकि ऐसा लगता है कि जबरन वसूली करने वाला एक संगठित गिरोह चल रहा था। यादव के वकील ने पुलिस की याचिका का विरोध करते हुए कहा कि मामले में अन्य आरोपियों को पहले ही जमानत दी जा चुकी है। पिछले महीने दो प्रोपर्टी डीलरों दीपक शर्मा और रिंकू दीवान ने आरोप लगाया था कि यादव के कार्यालय में काम करने वाले सतीश व देवेंद्र और उनके एक साथी जगदीश उस भवन को गिराने की धमकी देकर जबरन वसूली कर रहे हैं जहां से प्रॉपर्टी डीलर अपना काम करते हैं।


बीते 13 सितंबर को बिंदापुर थाने में आइपीसी की धारा 384 के तहत एक मामला दर्ज किया गया। इसके बाद कथित तौर पर जांच में शामिल नहीं होने पर विधायक के खिलाफ 14 अक्तूबर को एक गैर-जमानती वारंट जारी किया गया। पुलिस ने आरोप लगाया था कि विधायक को जबरन वसूली गिरोह चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया और गिरफ्तारी के लिए उनके खिलाफ ठोस सबूत हैं। पुलिस का आरोप है कि जांच और गिरफ्तार किए गए आरोपियों के बयान से खुलासा हुआ कि जबरन वसूली का संगठित गिरोह चल रहा है जिसके तार यादव से जुड़े हैं और वह इसके मुखिया हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 19, 2016 2:24 am

सबरंग