ताज़ा खबर
 

बेटी को गुजराती सिखाने के लिए दंपती ने छोड़ दी लाखों की नौकरी

दोनों दंपती 15 साल तक अमेरिका में काम करने के बाद साल 2015 में गुजरात के भावनगर लौटे थे।
ताशी अब अच्छे से गुजराती बोल लेती है। सांकेतिक फोटो (Indian express )

नौकरी छोड़ना कोई आसान काम नहीं होता वो भी अगर नौकरी न्यू यॉर्क जैसे बैंक में हो। लेकिन गुजरात के दंपती ने अपनी हाई पैकेज वाली नौकरी छोड़ दी क्योंकि वो अपनी 18 महीने की बेटी को उसकी मातृभाषा गुजराती सिखाना चाहते थे। आज (21 फरवरी) को इंटरनैशनल मदर्स डे है और दोनों पति गौरव और पत्नी इस बात पर गर्व करते हैं और दोनों खुश हैं। उनकी बेटी का नाम ताशी है जो साढ़े तीन साल की हो चुकी हैं। ताशी अब अच्छे से गुजराती बोल लेती है। दोनों दंपती 15 साल तक अमेरिका में काम करने के बाद साल 2015 में गुजरात के भावनगर लौटे थे। 18 महीने से ताशी के साथ दोनों यहीं रहे। इसमें मजेदार बात ये हैं कि दंपती ने 18 महीने तक कोई नौकरी नहीं की। कुछ ही महिने पहले दोनों दंपती वापस विदेश चले गए हैं। गौरव अब सिलिकॉन वैली में गूगल के साथ काम करते हैं वहीं शीतल एक अंतरराष्ट्रीय कंसल्टेंसी फर्म में काम कर रही हैं।

टाइम ऑफ इंडिया के साथ बात करते हुए गौरव ने बताया कि ताशी को भारत लाने का मक्सद था कि वो अपनी परिवार की जड़ों के साथ जुड़ी रहे। यहां आकर ताशी को बहुत सारा प्यार मिला। यहां रहकर उसने गुजराती सिखने के साथ- साथ गुजराती संस्कृति को भी जाना। गौरव ने बताया कि यहां आने के बाद वो ताशी को देश के अलग- अलग स्थानों के अलावा गिर के जंगलों में भी लेकर गए हैं। उसने यहां पर मानसून की पहली बारिश के साथ दिपावली का भी मजा लिया। भारत में आने से ताशी के जीवनकाल पर बहुत असर पड़ेगा। वहीं ताशी के दादा ने कहा कि वो चाहते थे कि उनकी पौती का बचपन ऐसी जगह बीते जहां उनकी मातृभाषा बोली जाती हो और इससे अच्छी जगह इसके लिए कुछ हो नहीं सकती थी।

 

 

गुजरात के भावनगर में गौरव और उसका परिवार खेतों में रहता है जो पर्यावरण के अनुकूल हैं। गौरव के पिता ने कहा कि ये जगह ताशी के लिए गुजराती सिखने के लिए भी ठीक है। यहां ज्यादा लोग नहीं हैं और जो भी हैं वो गुजराती बोलते हैं। ताशी के यहां आने से उसका पूरा परिवार बहुत खुश था।

बेटी की शादी में नहीं खर्च किया पैसा, बेघर लोगों को तोहफे में दिए 90 घर

ऋतिक रोशन के अपोज़िट डेब्यू करेंगी सैफ अली खान की बेटी सारा?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग