December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

माओवादी करा रहे थे 12 लाख के पुराने नोटों की अदला-बदली, पुलिस ने दबोचा, तीन गिरफ्तार

पुलिस ने मौके पर से पुराने 1000 रुपये के 800 नोट, 500 रुपये के 800 नोट और 100 रुपये के 14 नोट बरामद किए हैं जिनकी कुल कीमत 12 लाख एक हजार 400 रुपये हैं।

500 और 1000 के नोट की तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर किया गया है।

तेलंगाना की महबूब नगर पुलिस ने माओवादियों द्वारा 12 लाख के पुराने नोटों की अदला-बदली की कोशिश को नाकाम कर दिया है। माओवादी एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों की मदद से खम्मम जिला मुख्यालय से 80 किलो मीटर दूर भद्रादरी-कोठगुदेम के जंगलों में यह कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने मौके पर से कंस्ट्रक्शन कंपनी के दो कर्मचारी और एक पोस्टमास्टर को गिरफ्तार किया है जो माओवादियों का पैसा कमीशन पर बदलने की फिराक में थे। तीनों आरोपियों को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

महबूब नगर के एसपी रेमा राजेश्वरी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि सीपीआई (माओवादी) के सदस्यों ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों से भरे दो बैग गाजा इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड के प्रोजेक्ट इंजीनियर चिंता त्रिंधा राव और इंजीनियर लोला सिद्धार्थ को थमाए थे और उसे बदलवाने को कहा था। पुलिस ने बताया कि खम्मम जिले के सीपीआई माओवादी सचिव से धमकी मिलने के बाद दोनों कर्मचारी 12 नवंबर को छत्तीसगढ़ के भीमावरम गांव माओवादियों को लेवी के तौर पर 1.30 लाख रुपये देने गए थे ताकि उनका प्रोजेक्ट फिर से चालू हो सके।

पुलिस के मुताबिक, सितंबर में ही माओवादियों ने बंदूक की नोंक के बल पर चारला के जंगलों में प्रोजेक्ट से जुड़ा काम रुकवा दिया था। नक्सलियों ने प्रोजेक्ट के डिप्टी मैनेजर को 28 अक्टूबर को तलब किया था। इसके बाद राव ने सिद्धार्थ को साथ देने का अनुरोध किया था। जब दोनों जंगल में पहुंचे तो नक्सली उन्हें बीच जंगल में ले गए जहां 10 फीसदी कमीशन के तौर पर कुल 1.30 लाख रुपये की मांग की । इसके बाद राव को फिर माओवादियों ने धमकी दी और 12 नवंबर को उसी जगह पर बुलाया।

इस बार माओवादियों ने नए करेंसी नोट देने की बात कही तो राव ने इससे इनकार कर दिया। बाद में माओवादियों ने अपने पुराने नोट कुछ कमीशन पर बदलवाने की बात कही तो राव तैयार हो गया। राव ने अपने साथी सिद्धार्थ को कहा जिसने अपने एक दोस्त जी सत्यनारायण चारी से संपर्क साधा जो पोस्टमास्टर है। पोस्टमास्टर ने नोट बदली के लिए 30 फीसदी कमीशन की मांग की लेकिन बाद में वो 15 फीसदी पर तैयार हो गया। समझौते के मुताबिक 30 नवंबर को इन्हें जमा होना था लेकिन पोस्टमास्टर 1 दिसंबर को पहुंचा, जहां उन सबको गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस को एक मुखबिर ने सूचना दी थी कि वहां पुराने नोटों की अदला-बदली होनी है। पुलिस ने मौके पर से 1000 रुपये के 800 नोट, 500 रुपये के 800 नोट और 100 रुपये के 14 नोट बरामद किए हैं जिनकी कुल कीमत 12 लाख एक हजार 400 रुपये हैं।

वीडियो देखिए- नोटबंदी: फैसले के बाद कैसे चल रहा है मजदूरों का गुजारा, देखिए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 8:38 pm

सबरंग