ताज़ा खबर
 

सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग की शिकायत करने चुनाव आयोग जाएगी कांग्रेस

कांग्रेस ने हरियाणा की दो सीटों के लिए शनिवार को हुए राज्यसभा चुनाव में सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप लगाया है और इस मामले में वह सोमवार को चुनाव आयोग से शिकायत करेगी।
Author नई दिल्ली / चंडीगढ़ | June 13, 2016 05:07 am
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी। (पीटीआई फाइल फोटो)

कांग्रेस ने हरियाणा की दो सीटों के लिए शनिवार को हुए राज्यसभा चुनाव में सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप लगाया है और इस मामले में वह सोमवार को चुनाव आयोग से शिकायत करेगी। राज्य में कांग्रेस समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार आरके आनंद को हार का सामना करना पड़ा है। पार्टी महासचिव बीके हरिप्रसाद ने कहा कि वे 13 जून को चुनाव आयोग जाएंगे। चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित अपने ही लोगों द्वारा नुकसान पहुंचाए जाने के आरोपों के सवाल पर हरिप्रसाद ने जवाब दिया- ऐसा नहीं है। उधर, चंडीगढ़ में हुड्डा ने चुनाव आयोग से राज्यसभा के लिए हरियाणा की उन सीटों पर हुए मतदान की विस्तृत जांच कराने की मांग की है जिन पर शनिवार को वोट डाले गए। साथ ही उन्होंने उन कलमों की भी फारेंसिक जांच की मांग की है जिनसे वोट डाले गए।

हरियाणा में 14 कांग्रेसी विधायकों के वोट अवैध घोषित किए गए, जिससे आनंद हार गए। हुड्डा ने कहा कि कोई बड़ी साजिश रची गई है और सच सामने आना चाहिए। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग से जांच की मांग की जानी चाहिए। 24 घंटे में सच सामने आएगा। मालूम हो कि आरके आनंद की हार से कांग्रेस और पार्टी आलाकमान को बड़ा झटका लगा है। पार्टी को भरोसा था कि भाजपा समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी और मीडिया कारोबारी सुभाष चंद्रा को हराने की उसकी रणनीति कारगर रहेगी। शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल ने अपनी बैठक में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस बारे में निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया था कि किसे वोट देना है और उन्होंने आनंद के पक्ष में मतदान का निर्देश दिया था। हुड्डा पहले आनंद के पक्ष में नहीं थे क्योंकि उन्हें हरियाणा में कांग्रेस के प्रतिद्वंद्वी इनेलो का समर्थन था।

हुड्डा ने चंडीगढ़ में संवाददाताओं से कहा-‘इससे पहले ऐसी बात नहीं सुनी थी और न ही ऐसी कल्पना की थी कि इस स्तर की साजिश की जा सकती है। मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि एक साजिश रची गई ताकि भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीत जाएं।’ वोट डालने के लिए इस्तेमाल की गई कलमों की फारेंसिंक जांच कराने की मांग करते हुए हुड्डा ने कहा कि चुनाव आयोग को इसकी विस्तृत जांच करानी चाहिए। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक ढांचे में अगर ऐसी साजिशों को सफल होने दिया जाता है, तब लोकतंत्र खतरे में पड़ जाएगा। हुड्डा ने कहा-‘मैंने मांग की है कि इस मामले की जांच किए जाने की जरूरत है। आरके आनंद को एक चुनाव याचिका दायर करनी चाहिए।’

हुड्डा ने स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि वे इस साजिश का पर्दाफाश करने के लिए जांच कराने की मांग करते हैं। उन्होंने कहा-‘जब भी हमारे विधायक वोट डालने जाते हैं, उनके कलम और मोबाइल फोन मतदान क्षेत्र से बाहर जमा करा लिए जाते हैं। वे उसी कलम का इस्तेमाल कर वोट डालते हैं जो मतदान क्षेत्र के भीतर रखा होता है। हमारे चुनाव पर्यवेक्षक बी के हरिप्रसाद को वे मत दिखाए गए जो हमारे विधायकों ने डाले थे।’ उन्होंने कहा कि इसलिए यह साजिश कैसे रची गई, अगर आनंद कोई याचिका दायर करते हैं तो इसका आसानी से पता लगाया जा सकता है और 24 घंटे में यह सचाई सामने आ जाएगी कि पूरी साजिश के पीछे कौन हैं।

हुड्डा ने कहा कि फारेंसिक जांच से सचाई सामने आ जायेगी । परिणाम 24 घंटे के भीतर आ सकते हैं और इस कलम रहस्य की गुत्थी सुलझाई जा सकती है। यह आसानी से पता लगाया जा सकता है कि हमारे 12 विधायकों ने वोट डालने के लिए किस कलम का इस्तेमाल किया। हुड्डा ने कहा कि या तो भाजपा और सरकारी तंत्र की सांठगांठ थी, या इनेलोद इसके पीछे थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Parmatma Rai
    Jun 13, 2016 at 2:22 am
    सांप निकल जाने के बाद लाठी पीटने से कोई फायदा नहीं.
    (1)(0)
    Reply
    सबरंग