ताज़ा खबर
 

खर्चीले विवाहों को रोकने के लिए निजी विधेयक

कांग्रेस के विधायक रमेश कुमार ने कर्नाटक विधानसभा में एक निजी विधेयक पेश किया है जो कि खर्चीले विवाहों को रोकने और विवाह संस्था के कानूनी ढांचे में सुधार का प्रावधान करता है..
Author बेंगलुरु | November 21, 2015 00:16 am
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर।

कांग्रेस के विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने कर्नाटक विधानसभा में एक निजी विधेयक पेश किया है जो कि खर्चीले विवाहों को रोकने और विवाह संस्था के कानूनी ढांचे में सुधार का प्रावधान करता है।

पिछले साल मई में सिद्धरमैया सरकार ने मौजूदा कर्नाटक विवाह (पंजीकरण व विविध प्रावधान) अधिनियम, 1976 में एक संशोधन लाकर एक नया कानून लाने की योजना बनाई थी। सरकार ने विवाह समारोहों पर पांच लाख रुपए से ज्यादा धन खर्च करने वाले लोगों पर कर लगाने की योजना बनाई थी।

हालांकि नागरिक समाज द्वारा ऐसे कदम का विरोध किए जाने के बाद भव्य और बेहद खर्चीले विवाहों पर कर लगाने का विचार छोड़ दिया गया था। विधानसभा अध्यक्ष कागोडू थिम्मप्पा ने इस मुद्दे पर एक व्यापक बहस का आश्वासन दिया है। यह विधेयक आमंत्रित किए जाने वाले लोगों की संख्या के लिए एक सीमा तय करता है और कहता है कि विवाहों पर अतिरिक्त धन खर्च करने वाले माता-पिता को दंडित किया जाएगा।

कर्नाटक राज्य विवाह (पंजीकरण व विविध प्रावधान) अधिनियम, 2015 में भव्य विवाहों पर कर लगाने, मैरिज हॉल का एक दिन का किराया अधिकतम 50 हजार रुपए रखने और हॉल मालिकों के लिए स्थानीय निकायों से लाइसेंस अनिवार्य रूप से लेने का प्रावधान है। इसके मुताबिक, विवाह में बुलाए गए लोगों की संख्या 300 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.