ताज़ा खबर
 

कपिल सिब्बल का अमित शाह पर पलटवार,कहा- जो जेल की हवा खा चुके हैं, वो बताएंगे राहुल गांधी के मूल में खोट है

कपिल सिब्बल ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर पलटवार किया है और कहा कि जिनके खिलाफ मर्डर के केस हों, जिन्होंने जेल की हवा खाई हो, वो बताएंगे कि राहुल जी के मूल में खोट है?
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल। (File Photo/ANI)

पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर पलटवार किया है और कहा कि जिनके खिलाफ मर्डर के केस हों, जिन्होंने जेल की हवा खाई हो, वो बताएंगे कि राहुल जी के मूल में खोट है? शुक्रवार को दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स में सिब्बल ने न केवल बीजेपी अध्यक्ष के आरोपों का जवाब दिया बल्कि उस पर हमला भी किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी को बयानबाजी शोभा नहीं देती। ये कहते हैं कि सेना ने पहली बार एलओली क्रॉस किया, ये 1965, 1971 और 1999 भूल गए। कांग्रेस नेता ने फिर कहा कि बीजेपी सर्जिकल स्ट्राइक का राजनैतिक लाभ लेना और राजनीतिक पोस्टरबाजी बंद करे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय में कई सर्जिकल स्ट्राइक हुई हैं।

सिब्बल ने पाकिस्तान एक मरीज करार दिया और कहा कि हिंदुस्तान चाहता है कि मरीज ठीक रहे। उन्होंने कहा, “पाकिस्तान को कैंसर है, वो आतंकी है, हमारी सेना पाक को कीमोथेरेपी दे रही है पर बीजेपी सोच रही है कि ये जीत गए आतंकी खत्म हो गए, रावण मर गया, सिर्फ मेघनाथ खड़ा है। ये पोस्टरबाजी बंद करो।” सिब्बल ने कहा कि चुनाव आयोग का आदेश है कि सेना का इस्तेमाल सियासत में नहीं होना चाहिए। सेना पूरे देश की है। सिब्बल ने कहा, “दुख की बात ये है की जैश पैदा ना होता, अगर आप मसूद अजहर को छोड़ते नहीं और आरोप आप कांग्रेस पर लगा रहे हैं।”

वीडियो देखिए: राहुल पर स्वामी का वार

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारतीय जनता पार्टी सेना का हौसला बढ़ाने का मुद्दा जनता के बीच लेकर जाएगी। साथ ही उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक पर राहुल के बयान को हास्यास्पद बताया और कहा कि उनके मूल में खोट है। उन्होंने इस पर राजनीति करने के मुद्दे पर कहा कि भाजपा ने सर्जिकल स्ट्राइक पर किसी तरह की कोई राजनीति नहीं की। हमारे किसी भी मंत्री ने इस पर कोई बयान नहीं दिया है। प्रेस कॉन्फ्रेस हमारी सरकार ने नहीं, बल्कि डीजीएमओ ने की है। अगर कोई तहसील स्तर का कार्यकर्ता पोस्टर लगाता है तो उनसे भाजपा पार्टी नहीं जानी जाती। भाजपा पीएम मोदी, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली और राजनाथ सिंह अन्य पार्टी नेताओं की वजह से जानी जाती है।

साथ ही शाह ने कहा, ‘कुछ पार्टियों ने भारत द्वारा पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए गए थे। मैं ऐसे प्रयासों की निंदा करता हूं। जिन्होंने भी ऐसे प्रयास किए हैं, उन्होंने सेना का अपमान किया, शहीदों का अपमान किया है। सेना की वीरता पर सवाल उठाए हैं। इसकी शुरुआत आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने की थी। केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगे थे। मैं बताना चाहता हूं कि केजरीवाल गुरुवार को पाकिस्तान में ट्रेंड करने लगे थे। अब इससे पता लगता है कि केजरीवाल किसे फायदा पहुंचा रहे हैं।’

Read Also-सर्जिकल स्‍ट्राइक: रक्षा मंत्रालय का संसदीय समिति को ब्रीफ करने से इनकार, कहा- गोपनीय है मामला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग