December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

राहुल की गिरफ्तारी के विरोध में जयपुर में प्रदर्शन

दिल्ली में आत्महत्या करने वाले पूर्व सैनिक के परिजनों से मिलने जा रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस ने यहां बड़ा प्रदर्शन कर सरकार का पुतला भी फूंका।

Author नई दिल्ली | November 4, 2016 01:45 am
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। (फाइल फोटो)

दिल्ली में आत्महत्या करने वाले पूर्व सैनिक के परिजनों से मिलने जा रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस ने यहां बड़ा प्रदर्शन कर सरकार का पुतला भी फूंका। इसके बाद कांग्रेसियों ने सरकार के विरोध में अपनी गिरफ्तारियां भी दीं। विरोध प्रदर्शन की अगुआई प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने की। आम आदमी पार्टी ने भी सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया। दिल्ली में राहुल गांधी के साथ पुलिस के बुरे बर्ताव के विरोध में कांग्रेसियों का गुस्सा गुरुवार को यहां सड़क पर फूट पड़ा। प्रदेश कांग्रेस की अपील पर सभी जिलों में पार्टी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन कर सरकार के प्रति अपनी नाराजगी जताई। जयपुर में बड़ी संख्या में कांग्रेसियों ने जिला कलेक्टर दफ्तर के बाहर प्रदर्शन कर अपनी नाराजगी का इजहार किया। इस प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी शामिल हुए। दोनों नेताओं ने वन रैंक वन पेंशन के मुद्दे के साथ ही पूर्व सैनिक की आत्महत्या पर भाजपा सरकार को निशाने पर लिया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हुए पुलिस के बर्ताव पर भी खासा गुस्सा था। कांग्रेसजनों ने प्रदर्शन के दौरान भाजपा सरकार का पुतला दहन भी किया। इसके बाद पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी कर बाद में छोड़ दिया।

 

प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने विरोध प्रदर्शन के दौरान कहा कि हमारे नेता राहुल गांधी तो मृतक सैनिक के परिजनों से मिलने जा रहे थे, ऐसे में पुलिस ने उन्हें क्यों गिरफ्तार किया। देश में लोकतंत्र का गला घोटा जा रहा है। पायलट ने कहा कि भाजपा बौखला गई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को सरकार के खिलाफ बड़ा जनसमर्थन मिल रहा है। इससे ही भाजपा सरकार बौखलाई हुई है और उन्हें गिरफतार किया गया। सरकार के कदमों का पार्टी कार्यकर्ता डट कर मुकाबला करेंगे। पूर्व सैनिक ने सरकार की संवेदनहीनता के चलते ही आत्महत्या की थी। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घटना को शर्मनाक करार दिया।

 

गहलोत का कहना था कि यह घटना ही साबित करती है कि एनडीए सरकार की नीतियां पूरी तरह से विफल है। सरकार के रवैए के चलते सैनिकों में निराशा पनपी हुई है। पुलिस का राहुल गांधी को पीड़ित परिवार से मिलने से रोकना लोकतंत्र में पूरी तरह से असंवैधानिक है। पुलिस का बर्ताव निंदनीय है। दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ने भी गुरुवार को यहां भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य आप नेताओं के साथ पुलिस की धक्कामुक्की को भाजपा सरकार की बौखलाहट करार दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 4, 2016 1:41 am

सबरंग