ताज़ा खबर
 

खराब काम के आधार पर दो आईपीएस बरखास्त, मोदी सरकार ने जारी किया ऑर्डर

अखिल भारतीय सेवा के किसी भी अधिकारी के कामकाज की समीक्षा दो बार की जाती है। पहली समीक्षा 15 साल की सेवा पूरी होने पर और दूसरी 25 साल की सेवा पूरी होने पर की जाती है।
Author August 6, 2017 21:36 pm
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ में दो आईपीएस अधिकारियों को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है क्योंकि उनका कामकाज अपेक्षा के अनुरूप नहीं था। केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि भारतीय पुलिस सेवा के 2000 बैच के अधिकारी ए एम जूरी और 2002 के अधिकारी केसी अग्रवाल को छत्तीसगढ़ सरकार की अनुशंसा के बाद सेवा से बर्खास्त किया गया क्योंकि इन दोनों को अनुपयोगी पाया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति समिति की स्वीकृति के बाद गृह मंत्रालय ने इन दोनों को बर्खास्त करने का आदेश कल जारी किया।

अधिकारी ने कहा कि डीआईजी रैंक के इन दोनों अधिकारियों की सेवा के 15 साल पूरा होने पर उनके कामकाज की समीक्षा की गई और उन्हें सेवा में बने रहने के अयोग्य पाया गया। जूरी साल 1983 में राज्य पुलिस में शामिल हुए थे और 2000 में उनको पदोन्नति देकर आईपीएस बनाया गया था। अग्रवाल 1985 में राज्य पुलिस सेवा में शामिल हुए थे और उनको 2002 में पदोन्नति देकर आईपीएस बनाया गया था।

इन दोनों के कामकाज की समीक्षा करने के बाद अखिल भारतीय सेवा नियम-1958 के तहत ‘जनहित में’ इनको बर्खास्त किया गया। अधिकारी ने कहा, ‘‘अनुपयोगी लोगों को सेवा अलग करने के लिए आईपीएस अधिकारियों के कामकाज की समीक्षा की जाती है।’’

अखिल भारतीय सेवा के किसी भी अधिकारी के कामकाज की समीक्षा दो बार की जाती है। पहली समीक्षा 15 साल की सेवा पूरी होने पर और दूसरी 25 साल की सेवा पूरी होने पर की जाती है। गृह मंत्रालय के एक और अधिकारी ने कहा कि इन दोनों अधिकारियों के खिलाफ कथित कदाचार की शिकायत थी। इसी साल जनवरी में केंद्र शासित प्रदेश कैडर के 1998 बैच के अधिकारी मयंक शील चौहान और छत्तीसगढ़ कैडर के 1992 बैच के अधिकारी राजकुमार देवांगन को इसी आधार पर सेवा से बर्खास्त किया गया था।

देखिए वीडियो - नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद से धर्म-जाति के नाम पर हिंसा 41 फीसदी बढ़ी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    suresh k
    Aug 7, 2017 at 10:24 am
    मोदी सरकार का सर्वोत्तम कार्य , साहसिक कदम .
    (0)(0)
    Reply
    1. B
      bitterhoney
      Aug 6, 2017 at 11:57 pm
      यह दोनों ही अधिकारी ड्यूटी के समय नमो नमो के जाप करते नहीं पाए गए. इस संगीन अपराध को संज्ञान में लेते हुए इनको बर्खास्त कर दिया गया.
      (0)(0)
      Reply
      1. N
        NAVNEET MANI
        Aug 7, 2017 at 12:38 pm
        अबे चिल्लर, नमो का नाम लिए बिना खाना हजम नहीं होता क्या. अभी तो २०१९ में भी तुझे सदमा झेलना बाकी है. कम से कम असली नाम लिखने की हिम्मत रख. डूब मर !!
        (0)(0)
        Reply
      2. M
        manish agrawal
        Aug 6, 2017 at 10:48 pm
        Modiji ! BSF officers ko7th pay commission ki hefty ry dekar Govt, Hindustani Tax Payers ka hard earned money, kyon barbaad kar rahi hai?Major Unnikrishnan,Major Satish Dahiya,Major kamlesh Pande,Captain Saurabh Kalia,Captain Ayush Yadav,Lieutenant Umar Faiyaaz ityaadi tamaam Indian Army Officers shaheed ho chuke hain ! Senior IPS Hemant Karkare, DSP Mohammed Ayub Pandit,SHO Firoz Ahmad Dar, CSP Mukul Dwivedi, SHO Santosh Yadav ityaadi Police Officers bhi desh ke liye kurbaan ho gaye !CRPF Commandant Pramod kumar bhi desh par balidaan huye ! kyonki in officers ne apne jawans ke sath kandhe se kandha milaakar dushman ki Firing ka mukabla kiya ! lekin ye Kaayar, haramkhor BSF Officers apne jawans ke peechhe chhup jate hain isiliye dushman ki bullet inko hit nahi kar paati ! BSF Officers sirf apne jawans ka Govt Ration churakar bech dene main Expert hain !BSF jawanTejbahadur Yadav aur uski unit ke Officers ka NarcoTest BrainMapping aur Polygraph kijiye, saari haqiqat saamne aa jaayegi
        (0)(0)
        Reply
        1. M
          manish agrawal
          Aug 6, 2017 at 10:30 pm
          MODIJI ye to bataayiye ki BSF jawans ka Govt Ration churakar bech dene wale HARAMKHOR aur Chor BSF officers ko kab barkhast karoge ? BSF ke us chor DIG ko kab barkhast karoge jisne Home Ministry ko Tejbahadur Yadav ke khilaaph " False Inquiry Report " submit ki ?
          (0)(0)
          Reply
          सबरंग