ताज़ा खबर
 

सपा विधायक के खिलाफ दर्ज हुआ महिला की हत्या का केस, पीड़िता ने लगाया था रेप का आरोप

युवती ने 5 अक्टूबर 2013 को सदर विधायक अरुण वर्मा और उनके साथियो पर गैंग रेप का आरोप लगाया था।
(Representative Image)

समाजवादी पार्टी विधायक अरुण वर्मा पर गैंग रेप का आरोप लगाने वाली युवती की हत्या कर दी गई। युवती का शव देर शनिवार रात संदिग्ध हालात में मिला। परिवार के मुताबिक युवती शनिवार रात करीब सात बजे शौच के लिए घर से बाहर निकली थी लेकिन लौटकर नहीं आई जिसके बाद घर वालों ने पुलिस थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। कुछ ही घंटों में गांव के पंचायत भवन के पीछे महिला को बेहोश हालात में पाया गया। देर रात पुलिस युवती को जिला अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों की टीम ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवती के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस से सुरक्षा मांगी थी, लेकिन पुलिस ने उनकी बात नहीं मानी। लेकिन एसपी पवन कुमार ने इन आरोपों से साफ इनकार करते हुए कहा कि जांच रिपोर्ट आने के बाद कारवाई होगी। वहीं इस मामले में विधायक अरुण वर्मा का कहना है की उन्हें हत्या की कोई जानकारी नहीं है।

बता दें यूपी के जैसिंहपुर के चोरमा की रहने युवती ने 5 अक्टूबर 2013 को सदर विधायक अरुण वर्मा और उनके साथियो पर गैंग रेप का आरोप लगाया था। इसके बाद पुलिस रिपोर्ट दर्ज कारवाई गई लेकिन कारवाई से परिवार खुश नहीं था जिसके कारण का हाई कोर्ट का सहारा लिया था। अभी ये केस कोर्ट में चल रहा था। परिजनों ने आरोप लगाया है कि 21 फरवरी को विधायक अरुण वर्मा के खिलाफ कोर्ट में सुनवाई होनी है, इससे पहले ही युवती की हत्या करवा दी गई। वहीं, अरुण वर्मा ने इसे राजनैतिक साजिश बताया है।

कुछ समय पहले पुलिस ने विधायक को क्लीन चिट दे दी थी जिसके बाद विधायक की क्लीन चिट के खिलाफ प्रोटेस्ट अर्जी दायर की गई जिस पर हाई कोर्ट ने यूपी पुलिस से दो हफ्ते में रिपोर्ट मांगी। और साथ यह भी कहा था कि अगर कोई खामी नजर आई तो जांच सीबीआई को सौंप दी जाएगी। हाई कोर्ट ने युवती को रानी लक्ष्मीबाई सम्मान कोष से पीड़िता को 7 लाख रुपये देने को भी कहा था।

रेप के बाद कत्ल की गई लड़की के हॉस्टल पहुंचे विधायक, दोस्त से पूछा- साफ बताइए खून कहां से आया

गुड़गांव: टैंक में पड़ा मिला 10 साल की बच्ची का शव, डॉक्टर ने कहा- रेप हुआ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.