ताज़ा खबर
 

राजस्थान में भी कर चुका है बुलंदशहर जैसा कांड

29 जुलाई को बुलंदशहर में हाईवे के पास नाबालिग लड़की और उसकी मां से गैंग रेप करने वाले गिरोह के सरगना सलीम बावरिया पर राजस्थान में भी इसी तरह की घटना को अंजाम देने का आरोप है।
Author नोएडा | August 10, 2016 04:49 am
पुलिस की गिरफ्त में रेप आरोपी

29 जुलाई को बुलंदशहर में हाईवे के पास नाबालिग लड़की और उसकी मां से गैंग रेप करने वाले गिरोह के सरगना सलीम बावरिया पर राजस्थान में भी इसी तरह की घटना को अंजाम देने का आरोप है। राजस्थान पुलिस से मिले सुराग के आधार पर बुलंदशहर क्राइम ब्रांच और नोएडा एसटीएफ ने सलीम बावरिया को मेरठ के मवाना से गिरफ्तार किया। पुलिस ने परवेज और जुबैर नाम के उसके दो साथियों को भी गिरफ्तार किया है।

मंगलवार को सूरजपुर स्थित एसएसपी आॅफिस में मेरठ रेंज के आइजी सुजीत पांडे ने बताया कि इस मामले में अभी तक छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। सातंवा आरोपी फाती फरार है। उन्होंने बताया कि वारदात को अंजाम देने के बाद दो आरोपी झारखंड भाग गए थे। पुलिस टीमों को सलीम बावरिया के पहले किठौर, फिर परीक्षित गढ़ और बाद में मवाना में रुके होने की जानकारी मिली थी। इसी आधार पर मवाना से उसको दो अन्य साथियों के साथ गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों के पास से 2 तमंचे, कारतूस, महिलाओं के गहने, रुपए, जींस और टी शर्ट बरामद हुई हैं। उन्होंने बताया कि घटनास्थल से कपड़े, बाल आदि बरामद किए गए हैं। जिनकी फॉरेंसिक जांच कराई जाएगी।
घटनास्थल पर रात में घना अंधेरा होने के बाद भी पीड़ित पक्ष के आरोपियों की पहचान करने के सवाल पर आइजी ने बताया कि कार का गेट खोलते समय लाइट जली थी। इसी लाइट की रोशनी में पीड़ितों ने आरोपियों को देख लिया था।

प्रेस वार्ता में मौजूद पीड़ित पिता ने कानून पर पूरा भरोसा जताते हुए आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की।
पूछताछ में पता चला है कि गिरोह पहले रेकी करता था। उसके बाद घटना को अंजाम देता था। इस मामले में भी पहले से रेकी किए जाने की पुष्टि हुई है। गिरोह महिला और पुरुषों को अलग-अलग कर देता था, ताकि आसानी से लूटपाट कर सके। सलीम से राजस्थान की पुलिस भी पूछताछ करेगी।
प्रेसवार्ता में आइजी ने पीड़ित परिवार के सदस्यों की पहचान सार्वजनिक कर दी। परिवार के मुखिया का नाम लेने के अलावा उन्हें कैमरे के आगे खड़ा कर दिया। अलबत्ता मीडिया के सवाल उठाने पर उन्हें दूसरे कमरे में भेजा गया। हालांकि आइजी ने कहा कि यदि पीड़ित परिवार का मुखिया खुद मीडिया के आगे आकर अपनी बात रखना चाहता है तो, इसमें कुछ गलत नहीं है।

उन्होंने बताया कि एसटीएफ समेत 29 पुलिस टीमों ने 10 दिन की मश्क्कत के बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया। 29 जुलाई की रात खोड़ा कॉलोनी में निवासी यह परिवार कार से शाहजहांपुर जा रहा था। कार में तीन महिला और तीन पुरुष सवार थे। एनएच- 91 पर कार के टायर के चक्का आ जाने पर कार रुकी थी। तभी हथियारबंद बदमाशों ने सभी को बंधकर बना कर 13 साल की बच्ची और उसकी मां के साथ गैंग रेप किया। लूटपाट करने के बाद बदमाश फरार हो गए थे। इस मामले में बुलंदशहर पुलिस की लापरवाही के चलते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एसएसपी समेत कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग