ताज़ा खबर
 

चुनाव आयोग के अधिकारी को रिश्वत मामले में हवाला कारोबारी गिरफ्तार

चुनाव आयोग के अधिकारी को रिश्वत देने का प्रयास करने के मामले में गुरुवार देर रात एक और गिरफ्तारी हुई। संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) प्रवीर रंजन ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है लेकिन इसकी विस्तृत जानकारी नहीं दी।
Author नई दिल्ली | April 29, 2017 00:53 am
निर्वाचन अधिकारियों ने भट्टाचार्य का नामांकन इस आधार पर अमान्य घोषित कर दिया कि एक अतिरिक्त हलफनामा अंतिम तिथि 28 जुलाई को अपराह्न् तीन बजे के बाद दाखिल किया गया था।

चुनाव आयोग के अधिकारी को रिश्वत देने का प्रयास करने के मामले में गुरुवार देर रात एक और गिरफ्तारी हुई। संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) प्रवीर रंजन ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है लेकिन इसकी विस्तृत जानकारी नहीं दी। पुलिस ने कथित हवाला कारोबारी नाथू सिंह को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अन्नाद्रमुक (अम्मा) नेता टीटीवी दिनाकरण समेत तीन लोग पहले से ही पुलिस हिरासत में हैं। नाथू को शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया, जिसे पूछताछ के लिए दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया ताकि धन कहां से, कैसे और किस तक पहुंचा इसका पता लगाया जा सके। पुलिस ने दावा किया कि नाथू को एक करोड़ रुपए सुकेश चंद्रशेखर को देने के लिए दिए गए थे। यह मामला अन्नाद्रमुक (अम्मा) धड़े के नेता टीटीवी दिनाकरण से संबंधित है। विशेष न्यायाधीश पूनम चौधरी ने कथित बिचौलिए चंद्रशेखर को भी 12 मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया क्योंकि दिल्ली पुलिस ने कहा कि उससे हिरासत में पूछताछ की जरूरत नहीं है। चंद्रशेखर को पुलिस हिरासत की अवधि समाप्त होने पर अदालत के सामने पेश किया गया था। पुलिस ने कथित हवाला कारबारी नाथू सिंह को दो दिन के लिए हिरासत में भेज दिया।

इस मामले में सहायक पुलिस आयुक्त संजय सहरावत के नेतृत्व में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के अधिकारियों का एक दल चेन्नई में है। दिल्ली पुलिस ने दिनाकरण और उसके सहायक मल्लिकार्जुन के आवासों की तलाशी ली है। मल्लिकार्जुन को भी इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों के अलावा इस मामले से जुड़े अन्य लोगों से भी पैसा दिल्ली भेजने के लिए गैरकानूनी रास्तों का इस्तेमाल करने को लेकर पूछताछ की गई। पुलिस ने अदालत को बताया कि यह धन लंबित चुनाव निशान मामले में चुनाव आयोग के अधिकारी को रिश्वत की रकम का भुगतान करने के लिए था।

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सिंह को दिल्ली हवाई अड्डे पर बिचौलिए चंद्रशेखर को दिनाकरण की ओर से अवैध तरीके से धन के अंतरण में उसकी कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया गया था। दिनाकरण को चार दिन तक पूछताछ के बाद 25 अप्रैल की रात को गिरफ्तार किया गया था।
उसको अविभाजित अन्नाद्रमुक के चुनाव निशान ‘दो पत्तियां’ को अपने धड़े के लिए हासिल करने के लिए चुनाव आयोग के एक अज्ञात अधिकारी को रिश्वत देने का प्रयास करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.