ताज़ा खबर
 

पति के साथ बनाए थे शारीरिक संबंध, पत्नी मेडिकल जांच में करे साबित- मुंबई हाईकोर्ट

युवक ने साल 2011 में इस आधार पर कोर्ट में तलाक के लिए याचिका लगाई थी कि उनकी पत्नी शारीरिक संबंध बनाने में सक्षम नहीं हैं।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

मुंबई हाईकोर्ट में एक अनोखे मामले पर फैसला सुनाया गया है। एक पति ने अपनी पत्नी से इस आधार पर तलाक मांगा था कि वह शारीरिक संबंध बनाने में सक्षम नहीं है। हालांकि, पत्नी ने पति के इस दावे को खारिज करते हुए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इसके बाद मुंबई हाईकोर्ट ने इस मामले में फैसला सुनाते हुए पत्नी को आदेश दिया है कि वह मेडिकल जांच कराकर यह साबित करे कि वह शारीरिक संबंध बनाने में सक्षम है।

बता दें, साल 2011 में एक युवक ने फैमिली कोर्ट में अपनी पत्नी से तलाक के लिए याचिका लगाई थी। युवक ने तलाक के लिए याचिका लगाते हुए कोर्ट को बताया था कि उसकी पत्नी शारीरिक संबंध बनाने में सक्षम नहीं है। जिसके बाद पत्नी ने अपनी पति के इस दावे को खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने तलाक की याचिका के बाद भी शारीरिक संबंध बनाए हैं। इसके बाद फैमिली कोर्ट ने महिला को आदेश दिए कि वह मेडिकल जांच कराकर यह साबित करे कि वह शारीरिक संबंध बनाने में सक्षम है। फैमिली कोर्ट ने यह फैसला जुलाई में दिया था। फैमिली कोर्ट ने मेडिकल बोर्ड को आदेश दिए थे कि महिला पर लगाए गए नपुंसकता के आरोप की रिपोर्ट दी जाए। महिला की मेडिकल जांच अगस्त महीने में होने वाली थी।

Read Also: टीचर ने स्टूडेंट के साथ बनाए शारीरिक संबंध, स्कूल को ही ठहराया जिम्मेदार

इसके बाद पत्नी ने फैमिली कोर्ट के इस फैसले को मुंबई हाईकोर्ट में चुनौती दी। मुंबई हाईकोर्ट ने फैमिली कोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए महिला की याचिका खारिज कर दी। मुंबई हाईकोर्ट के जस्टिस केके तातेड़ ने महिला की याचिका खारिज करते हुए उसे मेडिकल जांच कराने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने महिला से कहा है कि वह मुंबई के सर जेजे अस्पताल में शारीरिक और मानसिक जांच करवाए। हाईकोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि तलाक के लिए यह जांच जरूरी है।

बता दें, 33 वर्ष की महिला और 38 वर्ष के पुरुष ने दिसंबर 2010 में शादी की थी। बताया जा रहा है कि दोनों की यह दूसरी शादी है।

Read Also: महिला ब्‍लॉगर ने खाई साल भर शारीरिक संबंध नहीं बनाने की कसम, पर 110 दिन में ही तोड़नी पड़ी, जानिए क्‍यों

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.