January 19, 2017

ताज़ा खबर

 

…तो क्या पंजाब चुनाव में कांग्रेस की जीत चाहती है बीजेपी !

बीजेपी को डर है कि अगर आम आदमी पार्टी पंजाब में जीतती है तो उसके लिए गोवा और गुजरात में भी बड़ी मुश्किल खड़ी करेगी। बीजेपी को लगता है कि लंबे राजनीतिक सफर में आप कांग्रेस से ज्यादा खतरनाक है।

Author October 2, 2016 08:38 am
सुखबीर सिंह बादल (एक्सप्रेस फोटो-प्रेम नाथ पांडेय)

पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल अपने सहयोगी दल भारतीय जनता पार्टी को यह समझाने में नाकाम रह गए कि दिल्ली में बीजेपी आम आदमी पार्टी को थप्पड़ न मारे क्योंकि उसका खामियाजा पंजाब चुनावों में बीजेपी-अकाली दल गठबंधन को भुगतना पड़ सकता है। सुखबीर सिंह बादल का मानना है कि आम आदमी पार्टी पंजाब में यह बात समझाने में कामयाब हो रही है और जनता के बीच माइलेज पा रही है कि उसे केन्द्र सरकार दिल्ली में जानबूझकर प्रताड़ित कर रही है। बीजेपी जो पंजाब में आंकड़ों में कहीं नही है, वह महसूस करती है कि उसकी सहयोगी दल शिरोमणि अकाली दल के खिलाफ राज्य में तगड़ा एंटी इनकमबेंसी फैक्टर काम कर रहा है। लिहाजा, आगामी चुनावों में उसका जीत पाना मुश्किल लगता है। ऐसी स्थिति में बीजेपी चाहती है कि पंजाब में अरविंद केजरीवाल की पार्टी आप की जगह कांग्रेस जीते और कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री बनें। बीजेपी को डर है कि अगर आम आदमी पार्टी पंजाब में जीतती है तो उसके लिए गोवा और गुजरात में भी बड़ी मुश्किल खड़ी करेगी। बीजेपी को लगता है कि लंबे राजनीतिक सफर में आप कांग्रेस से ज्यादा खतरनाक है।

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब में पार्टी की जीत सुनिश्चित कराने के लिए पिछले कई महीनों से वहां लगातार दौरे कर रहे हैं। वो हर हाल में पंजाब में 2017 के विधानसभा चुनावों में सत्ता पर कब्जा करने की कोशिश में हैं। इसके लिए उन्होंने कई रणनीति बनाई है। इसी के तहत दलित वोट बैंक को साधने के लिए आप ने अनुसूचित जाति (एससी) के लिए अलग से घोषणा पत्र जारी करने का प्रस्ताव दिया है। पार्टी ने कहा कि समुदाय के साथ वोट बैंक के तौर पर ‘सलूक’ किया गया है, जबकि उनकी मांगों की बार-बार अनदेखी की गई है। पंजाब में अनुसूचित जाति की सबसे अधिक आबादी है। बीजेपी को नुकसान पहुंचाने के मकसद से ही आप ने पार्टी के तेज तर्रार नेता नवजोत सिंह सिद्धू को बीजेपी से अलग करा लिया।

Read Also-आम आदमी पार्टी के पूर्व पंजाब संयोजक सुचा सिंह छोटेपुर ने बनाई नई पार्टी ‘अपना पंजाब’

चुनावों के मद्देनजर आम आदमी पार्टी ने प्रत्‍याशियों की पहली लिस्‍ट जारी कर पंजाब के हर वर्ग को लुभाने की भी कोशिश की है। 19 प्रत्‍याशियों की पहली लिस्ट में डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, खिलाडी, पूर्व-सैनिक, समाज सेवी, पार्टी कार्यकर्ताओ को टिकट दिया गया है। पंजाब में कुल 117 विधानसभा सीटें हैं। पंजाब में आप की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि मोदी लहर के बावजूद 2014 के लोकसभा चुनावों में 4 सीटें जीती थीं।

Read Also-पंजाब चुनाव से पहले ‘पंगेबाज’ सांसदों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगी ‘आप’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 2, 2016 8:30 am

सबरंग