ताज़ा खबर
 

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ की धक्कामुक्की

जिला अस्पताल में मरीजों को एक्सपायर दवाएं दिए जाने के मुद्दे पर भाजपा कार्यकर्ताओं और स्वास्थ्य कर्मियों के बीच गुरुवार को धक्का-मुक्की हो गई।
Author बरेली | September 16, 2017 00:59 am

जिला अस्पताल में मरीजों को एक्सपायर दवाएं दिए जाने के मुद्दे पर भाजपा कार्यकर्ताओं और स्वास्थ्य कर्मियों के बीच गुरुवार को धक्का-मुक्की हो गई। अस्पताल के स्टॉफ ने कामकाज छोड़ कर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने अस्पताल के स्टॉफ पर बदसलूकी करने के आरोप लगाए हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं और अस्पताल कर्मियों के बीच टकराव की सूचना मिलने पर जिला प्रशासन और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर स्थिति कोे काबू में किया।

मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. के एस गुप्ता ने बताया कि नर्सिंग स्टॉफ को समझा-बुझाकर वापस काम पर लगा दिया गया है। भाजपा के शहर अध्यक्ष उमेश कठेरिया ने बताया कि जिला अस्पताल में मरीजों को एक्सपायर दवाएं और इंजेक्शन दिए जाने की उन्हें कई दिन से शिकायतें मिल रही थी। इसकी हकीकत जानने के लिए वे अपने संगठन के पदाधिकारियों के साथ जिला अस्पताल गए थे। वहां मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस गुप्ता से बात करने के बाद उनके साथ ही विभिन्न वार्डों का दौरा कर रहे थे। अस्पताल के मरीजों की दवाएं देखने पर इस बात की पुष्टि हो गई कि एक्सपायर दवाओं का वितरण भी किया जा रहा है। अस्पताल के स्टोर में भी बड़ी तादाद में एक्स्पायर दवाएं और इन्जेक्शन मिले। अस्पताल में कहीं साफ-सफाई भी नजर नहीं आ रही थी। जच्चा-बच्चा वार्ड में एक छोटा बच्चा वार्ड के बाहर लेटा हुआ था जिसे वार्ड में भर्ती कराया गया।

उन्होंने आरोप लगाया कि जिला अस्पताल की तमाम कमियां उजागर होने पर अस्पताल के स्टॉफ ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ धक्का-मुक्की कर उन्हें खदेड़ने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि अस्पताल के स्टॉफ ने शहर संगठन के उपाध्यक्ष देवेंद्र जोशी और अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट भी की है। जिला अस्पताल में प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों के समय पर पहुंचने से वे सुरक्षित वापस आ गए। उन्होंने बताया कि थाना कोतवाली की पुलिस को अस्पताल स्टॉफ के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए तहरीर दे दी है।
उधर जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस गुप्ता ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ताओं के बड़ी संख्या में आकर वार्डों में इधर-उधर घुसने से अस्पताल मे अराजकता फैल गई। इस माहौल मे एक नर्स निदा खातून का मोबाइल भी गायब हो गया। इसके विरोध में अस्पताल स्टाफ ने नारेबाजी करते हुए धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। उनके समझाने पर स्टॉफ काम पर वापस आ गया हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग