ताज़ा खबर
 

राजस्थान: भाजपा महिला विधायक का ऑडियोक्लिप वायरल, बीडीओ को धमकाने का आरोप

विधायक ने कहा, ‘‘ऑडियोक्लिप के साथ छेड़छाड़ की गई है, मुझे विश्वास है कि यह ऑडियोक्लिप फर्जी है। मैने पुलिस अधीक्षक को इस मामले की जांच करने के लिए कहा है।’’
भारतीय जनता पार्टी

राजस्थान में भाजपा विधायकों के अफसरों को धमकाने के मामले लगातार सामने आने से पार्टी सकते में आ गई है। भाजपा की महिला विधायक अनिता सिंह के भरतपुर जिले के एक विकास अधिकारी को फोन पर धमकाने का ओडियो वायरल होने से यह मामला उजागर हो गया है। इस मामले में अब प्रदेश भाजपा सफाई की मुद्रा में आ गई है। इसके साथ ही विधायक ने भी इसे फर्जी करार देते हुए इसकी जांच की मांग की है।

राज्य भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी ने इस मामले में विधायक के साथ ही भरतपुर जिले के पार्टी नेताओं से रिपोर्ट मांगी है। भरतपुर जिले की नगर से विधायक अनिता सिंह ने अपने इलाके के बीडीओ को फोन पर धमकाते हुए कहा कि हम सरकार हैं और तुम्हें हमारे पास आना ही होगा। इसके साथ ही अफसर को औकात में रहने के साथ ही काम नहीं करने पर उसकी बुरी गत बनाने की धमकी भी दी है। इस मामले में अफसर बुरी तरह से डरा हुआ है।

वायरल हुए ओडियो में विधायक ने अफसर को कहा कि उसने उनके आदमी को रिलीव कैसे कर दिया। इसमें पूर्व मंत्री दिगंबर सिंह का नाम लेते हुए विधायक ने कहा कि वो भी कुछ नहीं कर सकेगा। दिगंबर सिंह भाजपा के पूर्व मंत्री है और अभी कैबिनेट मंत्री के दर्जे वाले पद पर सरकार में बीसूका के उपाध्यक्ष हैं। सिंह भरतपुर जिले के ही है और पूरे इलाके में उनकी मनमर्जी से ही अफसरों की तैनाती होती है। इससे ही विधायक अनिता सिंह खफा हैं और उन्होंने साफ लहजे में कहा कि दिगंबर सिंह तो हारा हुआ है।

अनिता सिंह ने अफसर को चेतावनी देते हुए कहा कि वो उसका मुख्यमंत्री से कह कर तबादला करवा देंगी। अफसर भी फोन पर गिड़गिड़ाता रहा कि उसकी कोई गलती नहीं है और वो यहां रहना भी नहीं चाहता है। विधायक अनिता सिंह ने बुधवार को जनसत्ता से कहा कि वो तो बीमार है। उन्होंने इस तरह की कोई धमकी बीडीओ को नहीं दी है। इस ओडियो को उन्होंने पूरी तरह से फर्जी करार दिया। विधायक ने भरतपुर के एसपी से इस मामले की जांच कर, इसके दोषियों को पकड़ने को भी कहा है।

प्रदेश में अफसरों को धमकाने के ओडियो वायरल होने के क्रम में अनिता सिंह चौथी भाजपा विधायक हैं जो इस तरह की हरकत करते सामने आई हैं। इससे पहले कोटा के विधायक प्रहलाद गुंजल, बूंदी के अशोक डोगरा और मालपुरा के भाजपा विधायक का भी अपने इलाके के अफसरों को धमकाने वाला ओडियो वायरल हो चुका है। इन मामलों की भाजपा ने भी अपने स्तरों पर जांच कराई पर सिर्फ गुंजल को ही कुछ दिनों के लिए पार्टी से निलंबित कर बहाल कर दिया। विधायकों की अफसरों पर बढ़ती दबंगई से कर्मचारी वर्ग में गहरी नाराजगी पनप रही है। कर्मचारी संघों ने भाजपा विधायकों की ऐसी हरकतों के खिलाफ अब कड़े कदम उठाने की गुहार मुख्य सचिव से भी की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग