ताज़ा खबर
 

Rohith Vemula Suicide Case: बीजेपी का राहुल गांधी पर हमला, कहा- कांग्रेस उपाध्यक्ष कर रहे हैं शवों पर राजनीति

हैदराबाद कुलपति को बर्खास्त करने की मांग को लेकर छात्र आमरण अनशन कर रहे हैं। राहुल गांधी इन छात्रों को समर्थन देने हैदराबाद पहुंचे। राहुल करीब दो घंटे प्रर्दशन स्थल पर मौजूद रहे।
Author हैदराबाद | January 30, 2016 14:49 pm
राहुल ने प्रदर्शन में हिस्सा लेते हुए रोहित की तस्वीर के आगे मोमबत्तियां जलाईं और आंदोलनकारी छात्रों से बातचीत की। (source: ani twitter)

दलित रिसर्चर रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद दूसरी बार हैदराबाद विश्वविद्यालय पहुंचे राहुल गांधी पर भाजपा ने कटाक्ष करते हुए राहुल और कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वे इस मुद्दे का राजनीतिकरण कर रहे हैं और यह दौरा ‘‘शवों पर राजनीति’’ की मिसाल है।

तेलंगाना भाजपा के प्रवक्ता कृष्णा सागर राव ने कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस राजनीतिक रूप से इतने दिवालिया और बेरोजगार हैं कि उन्हें एक छात्र की त्रासद मौत का बार-बार राजनीतिकरण करना पड़ रहा है। राव ने सवाल उठाते हुए आगे कहा कि राहुल गांधी चेन्नई क्यों नहीं जा रहे हैं, जहां लगभग एक सप्ताह पहले तीन लड़कियों ने आत्महत्या की है। तुच्छ राजनीतिक लाभ लेने की उनकी कोशिश उन्हें एचसीयू परिसर में वापस लेकर आई है। यह शवों पर राजनीति की उच्चतम मिसाल है

राहुल कल आधी रात के बाद परिसर में पहुंचे थे और उन्होंने आंदोलनरत छात्रों द्वारा आयोजित ‘कैंडल मार्च’ में हिस्सा लिया। राहुल ने छात्रों के साथ लगभग दो घंटे बिताए। आत्महत्या कर लेने वाले दलित रिसर्चर रोहित वेमुला का आज जन्मदिन है और आज वह 27 साल के हो गए होते।

दलित रिसर्चर की आत्महत्या के चलते कांग्रेस मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय को हटाने और कुलपति अप्पा राव को बर्खास्त करने की मांग कर रही है। वेमुला की आत्महत्या के बाद राहुल दूसरी बार हैदराबाद के दौरे पर आए हैं। वेमुला की आत्महत्या के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल 19 जनवरी को विश्वविद्यालय आए थे। उन्होंने आंदोलनरत छात्रों और रोहित के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की थी।

हैदराबाद पहुंचे राहुल ने ट्वीट करके कहा कि सपनों और महत्वाकांक्षाओं से भरा एक युवा जीवन संक्षिप्त हो गया। हम यह उसे, महात्मा गांधी की स्मृति को और हर उस भारतीय छात्र को समर्पित करते हैं जो पक्षपात और अन्याय से मुक्त भारत का सपना देखता है। विरोध प्रदर्शन स्थल पर रोहित की मां राधिका और भाई राजू भी मौजूद थे। राहुल ने प्रदर्शन में हिस्सा लेते हुए रोहित की तस्वीर के आगे मोमबत्तियां जलाईं और आंदोलनकारी छात्रों से बातचीत की। जब छात्रों ने मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय के खिलाफ नारे लगाए तो राहुल ने टोकते हुए कहा कि किसी के खिलाफ ‘मुर्दाबाद’ का नारा मत लगाइए। हम किसी के लिए भी ‘मुर्दाबाद’ न कहें। इससे इंसाफ नहीं होगा।

हाल ही में जिन रिसर्चर का निलंबन वापस लिया गया है, उनमें से वेपुला सुंकन्ना और विजय कुमार आमरण अनशन कर रहे हैं। अपनी मांगे रखते हुए विजय कुमार ने कहा कि कुलपति अप्पा राव पोडिले को पद से हटाया जाना चाहिए। 17 जनवरी को हमने अप्पा राव और पांच अन्य के खिलाफ अत्याचार का मामला दर्ज कराया था। इन छह लोगों को तत्काल गिरफ्तार किया जाना चाहिए।
परिसर में राहुल गांधी के दूसरे दौरे के बारे में उन्होंने कहा कि मैं इसे उसी तरह देखता हूं, जैसे कि अरविंद केजरीवाल, सीताराम येचुरी, माकपा नेता और कई अन्य लोग यहां आए और हमें समर्थन दिया। हम उसी तरह से राहुल गांधी को देखते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग