December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

दिल्ली और मध्य प्रदेश के बाद केरल में भी मिले बर्ड फ्लू के केस

आशंका है कि पाकिस्तान और दिल्ली से होते हुए साइबेरिया से आने वाले प्रवासी पक्षियों से तटीय केरल में यह विषाणु आया हो।

Author कोच्चि | October 26, 2016 04:40 am
बर्ड फ्लू।

दिल्ली और मध्यप्रदेश में बर्ड फ्लू की दस्तक के बीच, यह बीमारी फैलाने वाला विषाणु केरल के तटीय अलपुझा जिले की बत्तखों में भी पाया गया है, जिसके बाद जिला प्रशासन ने त्वरित प्रतिक्रिया दल गठित करने के साथ विभिन्न उपाय किए। एक आधिकारिक बयान में मंगलवार को बताया गया कि भोपाल के राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान में नमूनों के परीक्षण के बाद राज्य की बत्तखों में इस विषाणु के होने की पुष्टि हुई। इसमें कहा गया कि बर्ड फ्लू के मामले थाकाझी, रमनकारी, पांडी, पल्लीपड और कैनाडी में सामने आए हैं। हालांकि, हड़बड़ाने की कोई जरूरत नहीं है। कुछ किसानों ने दावा किया है कि उनकी कई बत्तखें मर गई हैं।

बर्ड फ्लू का कहर! दिल्ली के चिड़ियाघर के बाद, अब डियर पार्क को भी बंद किया गया

 

जिला कलेक्टर वीना एन माधवन ने कहा कि एच5एन8 विषाणु से ग्रस्त बत्तखों को अलग करके उन्हें मारने के लिए बीस त्वरित प्रतिक्रिया दलों का गठन किया गया है। राज्य पशुधन विभाग ने बुखार या सर्दी-जुकाम से पीड़ित लोगों को इन पक्षियों से दूर रहने की सलाह दी है। बयान में कहा गया कि आशंका है कि पाकिस्तान और दिल्ली से होते हुए साइबेरिया से आने वाले प्रवासी पक्षियों से तटीय केरल में यह विषाणु आया हो। इस बीच, अलपुझा से सांसद केसी वेणुगोपाल ने केंद्र सरकार से संकट की स्थिति से निपटने के लिए राज्य को मदद के लिए कदम उठाने को कहा।

पूर्व केंद्रीय मंत्री वेणुगोपाल ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय कृषि मंत्री को पत्र लिख कर तत्काल हस्तक्षेप और प्रभावित क्षेत्र में विशेषज्ञ दल भेजने की मांग की है। उन्होंने उन किसानों के लिए मुआवजे की भी मांग की, जिनकी बत्तखें प्रभावित हुई हैं। उन्होंने वर्ष 2014 में बर्ड फ्लू से अलपुझा और कोट्टायम जिलों में हजारों बत्तखों की मौत की घटना को याद किया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 4:39 am

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग