ताज़ा खबर
 

नीतीश की पुलिस पर ग्रामीणों का तालिबानी हमला, जाम हटाने गए एसडीपीओ को पीटा, बंधक बनाया

20 जुलाई को एक मोटरसाइकिल की टक्कर में 10 वर्षीय किशन कुमार दास गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसे बेहतर इलाजे के लिए पीएमसीएच रेफर किया गया था, जहां बीती रात्रि इलाज के क्रम में उसने दम तोड़ दिया ।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बिहार के शिवहर जिले के पुरनहिया थाना अंतर्गत बसन्तपट्टी गांव में बीते दिनों एक मोटरसाइकिल के ठोकर मार देने से घायल एक किशोर की बीती रात इलाज के दौरान मौत हो जाने से आक्रोशित प्रदर्शनकारियों और पुलिस की झड़प में शिवहर अनुमंडल पुलिस अधिकारी प्रीतीश कुमार सहित कुल 12 लोग घायल हो गए हैं। जनसत्ता डॉट कॉम से बात करते हुए पुलिस अधीक्षक प्रकाश नाथ मिश्र ने बताया कि जिलाधिकारी की मौजूदगी में प्रदर्शनकारियों को समझा बुझा कर शांत कराया गया है। बतौर एसपी इलाके में फिलहाल हालात काबू में है और शांति व्यवस्था बहाल हो गई है।

मिश्रा ने बताया कि मामले की शुरुआत 15 दिन पहले हुई थी, जब 20 जुलाई को एक मोटरसाइकिल की टक्कर में 10 वर्षीय किशन कुमार दास गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे बेहतर इलाजे के लिए पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर किया गया था, जहां बीती रात्रि इलाज के क्रम में उसने दम तोड़ दिया । मिश्रा ने बताया कि पीड़ित परिजन इस दौरान आरोपी से मुआवजा मांगने की कोशिश करते रहे लेकिन जब उन लोगों ने किसी तरह का हर्जाना देने से इनकार कर दिया तो पीड़ित पक्ष ने 25 जुलाई को थाने में एफआईआर दर्ज कराई।

मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जो बाद में कोर्ट से जमानत पर छूट गया। इस बीच पांच अगस्त को इलाज के दौरान घायल किशोर की मौत हो गई। इसके बाद लाश लेकर उसके परिजन आरोपी के घर रात में ही पहुंच गए और मुआवजे की मांग करने लगे। मुआवजा नहीं देने पर लाश का अंतिम संस्कार वहीं करने की बात करने लगे। इससे घबराए आरोपी और उनके परिजन वहां से भाग गए।

इसके अगले दिन आक्रोशित ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग करते हुए बसंतपट्टी चौक को जाम कर दिया और वहां टायर जलाकर विरोध-प्रदर्शन किया। मिश्रा ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस दल को तुरंत मौके पर रवाना किया गया। भीड़ को नियंत्रित करने पहुंची पुलिस टीम पर आक्रोशित ग्रामीणों ने ना केवल पथराव किया बल्कि शिवहर अनुमंडल पुलिस अधिकारी को ग्रामीण मारते-पीटते खदेड़कर दूर तक ले गए। उन्हें गंभीर चोट आई है। ग्रामीणों के साथ हुई झड़प में छह पुलिसकर्मी घायल हुए हैं जिन्हें अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। एसपी ने जवाबी हवाई फायरिंग या लाठी चार्ज से इनकार किया है। एसपी मिश्रा ने बताया कि लाश का अंतिम संस्कार कर दिया गया है और लोगों को समझा-बुलाकर स्थिति सामान्य कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि घायल एसडीपीओ के अंगरक्षक रमीज रजा को बेहतर इलाज के लिए मुजफ्फरपुर स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि अनुमंडल पुलिस अधिकारी सहित बाकी घायल पुलिसकर्मियों नन्द किशोर शर्मा, नीरज कुमार, आलोक कुमार, सरोज मिश्र आदि का इलाज शिवहर सदर अस्पताल में जारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग