ताज़ा खबर
 

गरीब बाप समय से पैसे नहीं दे सका तो टीचर ने बेटियों को अंडरगारमेंट में भेज दिया स्कूल से घर

अप्रैल में जब सेशन शुरू हुआ था तब इन्हें यह यूनिफॉर्म दी गई थी। दोनों बहनों की यूनिफॉर्म के लिए 1,600 रुपये स्कूल में जमा करने थे।
शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने घटना को बहुत निंदनीय बताया। साथ ही कहा कि घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई होगी। (Photo: India Express)

बिहार के बेगूसराय में एक स्कूल के प्रिंसिपल और एक टीचर को गिरफ्तार किया गया है। इन पर आरोप है कि एक गरीब बाप अपनी दो बेटियों की ड्रेस के पैसे स्कूल को नहीं दे सका तो स्कूल ने उनकी ड्रेस उतरवाकर अंडरगारमेंट में ही घर भेज दिया। घटना गुरुवार को मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कोरिया गांव स्थित बी.आर. एजुकेशन एकेडमी की है। जिन दोनों लड़कियों को स्कूल ने बिना ड्रेस के घर भेजा उनमें से एक पहली क्लास में और दूसरी नर्सरी में पढ़ती है। एक की उम्र करीब साढ़े छह साल और दूसरी की उम्र पांच साल है। अप्रैल में जब सेशन शुरू हुआ था तब इन्हें यह यूनिफॉर्म दी गई थी।

दोनों बहनों की यूनिफॉर्म के लिए1,600 रुपये स्कूल में जमा करने थे। जब दोनों लड़कियां स्कूल पहुंचीं तो क्लास टीचर अंजना देवी ने दोनों के कपड़े उतरवाकर उनको अंडरगारमेंट्स में स्कूल से वापस घर भेज दिया। लड़िकयों के पिता चुंचुन कुमार साओ एक प्रोविजन स्टोर चलाते हैं, जब वह इसकी शिकायत करने स्कूल के प्रिंसिपल के पास पहुंचे तो प्रिंसिपल मुकेश कुमार ने धमकी देते हुए कहा कि यूनिफॉर्म के पैसे नहीं देने पर ऐसा किया गया है। इसके बाद उन्होंने शुक्रवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

साओ ने कहा कि उन्होंने स्कूल प्रशासन से कहा था कि वह अभी आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। उन्हें स्कूल की फीस देने के लिए कुछ दिन का वक्त और दे दिया जाए। इस घटना के बाद दोनों बेटियां सदमे में हैं। अब वह उन्हें किसी दूसरे स्कूल में पढ़ाने की सोच रहे हैं। बेगूसराय के एसपी ने इंडियन ऐक्सप्रेस को बताया कि यह एक गंभीर मामला था, इसकी लिखित शिकायत की गई थी। शिकायत के बाद स्कूल में तुरंत एक डीएसपी को भेजा गया। डीसपी ने वहां दूसरे स्टूडेंट्स और स्थानीय लोगों से बात की और पाया कि दोनों लड़कियों को अंडरगारमेंट्स में घर भेजा गया। मामला सामने आने के बाद शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने घटना को बहुत निंदनीय बताया। साथ ही कहा कि घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई होगी। स्कूल के बारे में जानकारी जुटाई जा रही हैं। पता लगाया जा रहा है कि किस तरह का स्कूल चल रहा था और किस क्लास तक की पढ़ाई होती थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग