ताज़ा खबर
 

लालू बोले: नीतीश बताएं- भागलपुर सर्किट हाउस छोड़ मिश्राजी के घर क्यों ठहरते हैं, रिश्ता क्या है?

उन्होंने पूछा कि नीतीश ने जेता सिंह के तपोवन के लिए सरकारी खजाने से 50 करोड़ रुपए क्यों दिए?
लालू यादव के साथ उनके दोनों बेटे तेजप्रताप और तेजस्वी समेत पार्टी के कई नेता, सांसद, विधायक मंच पर मौजूद थे।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने सृजन घोटाले को महाघोटाला बताया और बोले कि घोटालेबाजों को जब तक जेल में नहीं ठूंसा जाएगा तब तक राजद चुप नहीं बैठेगा। वे रविवार (10 सितंबर) को भागलपुर के सैंडिस कम्पाउंड में आम सभा को संबोधित कर रहे थे। उनके साथ उनके दोनों बेटे तेजप्रताप और तेजस्वी समेत पार्टी के कई नेता, सांसद, विधायक मंच पर मौजूद थे। आज की राजद रैली का नाम उन्होनें सृजन के दुर्जन का विसर्जन रखा था। इससे पहले शनिवार रात वे इंटरसिटी ट्रेन से पटना से भागलपुर आ चुके थे। सर्किट हाउस में उनसे मिलने पार्टी कार्यकर्ताओ का तांता लगा रहा। उमस भरी गर्मी के बावजूद बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। दोपहर बाद उनकी सभा हुई। उनके और उनके बेटों के भाषण के बीच भीड़ लगातार जिंदाबाद का नारा लगाती रही। लालू प्रसाद के साथ तेजस्वी यादव ने भी सृजन घपले को व्यापम से भी बड़ा बताया और कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जानकारी में सृजन घोटाले को अंजाम दिया गया है।

लालू प्रसाद ने सीधे-सीधे आरोप लगाया कि घोटाले के तार भाजपा के बड़े नेताओं से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि रेखा मोदी और सुशील मोदी के रिश्ते को कौन नहीं जानता। सृजन के करोड़ों रुपए से रेखा ने महंगे गहने खरीदे। लालू ने कहा कि गिरिराज सिंह के घर मिले करोड़ों रुपए भी सृजन के ही थे। उन्होंने मुख्यमंत्री पर भी निशाना साधा और पूछा कि नीतीश कुमार जब भागलपुर आते हैं तो किस मिश्रा जी के घर जाते हैं? और क्यों जाते हैं? उन्होंने पूछा कि क्या वजह है कि नीतीश कुमार सर्किट हाउस में नहीं ठहरते? लालू इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने कहा कि नीतीश जेता सिंह के तपोवन में विश्राम करते हैं। वे जनता को बताएं कि जेता सिंह से उनके क्या और कैसे रिश्ते हैं? उन्होंने पूछा कि नीतीश ने जेता सिंह के तपोवन के लिए सरकारी खजाने से 50 करोड़ रुपए क्यों दिए?

लालू ने कहा, सृजन की वजह से महागठबंधन से नाता तोड़ नीतीश ने भाजपा से हाथ मिलाया। तेजस्वी तो एक बहाना है। सैकड़ों करोड़ रुपए का सरकारी खजाने को चूना लगाया गया है। उन्होंने सीबीआई से निष्पक्ष जांच की मांग की। दूसरे हाथ उन्होंने केंद्र की भाजपा सरकार पर सीबीआई, आयकर महकमा और दूसरे तरीके से उनको (लालू प्रसाद) और उनके परिवार को तरह-तरह से परेशान करने का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि इन सबसे हम डरने वाले नहीं है। जब भाजपा का रथ रोक सकते हैं तो भाजपा को भी रोक सकते हैं। जनता 2019 में जवाब देगी।

उन्होंने नीतीश को ललकारते हुए कहा कि दम है तो चुनाव करा कर देख लें। जनता बता देगी। सिपाही की बहाली में इंटर पास कर दिया। हमारी सरकार आएगी तो सातवीं पास को भी सिपाही की नौकरी देंगे। रैली में उनके साथ रघुवंश प्रसाद सिंह, जयप्रकाश नारायण यादव, बुलो मंडल भी मंच पर बैठे थे। कार्यक्रम से पहले राजद जिला अध्यक्ष तिरुपति यादव ने सभी का स्वागत किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.