ताज़ा खबर
 

राम जेठमलानी ने अरविंद केजरीवाल का फीस माफ किया तो बोले लालू यादव- चाचा के पास पैसे की कमी नहीं, हमारा केस भी तो फ्री लड़ा था

चारा घोटाले में दोषी लालू यादव की पैरवी अदालत में राम जेठमलानी ने ही की थी।
राजद अध्यक्ष लालू यादव और राम जेठमलानी। (फाइल फोटो)

वरिष्ठ वकील और पूर्व केंद्रीय कानून मंत्री राम जेठमलानी दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के खिलाफ केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा दायर मानहानि के मुकदमे की पैरवी कर रहे हैं। इसके एवज में करीब 3.42 करोड़ रुपये की फीस का बिल उन्होंने केजरीवाल को थमाया था लेकिन जब इस पर राजनीति होने लगी तो जेठमलानी ने अपना फीस माफ करने का एलान कर दिया। अब इस पर राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव ने भी प्रतिक्रिया दी है। समाचार एजेंसी एएनआई को लालू यादव ने कहा कि चाचा के पैस पैसे की कोई कमी नहीं है। लालू ने कहा कि उन्होंने हमारा केस भी फ्री लड़ा था, हमलोगों ने उन्हें कोई पैसे नहीं दिए थे।

गौरतलब है कि चारा घोटाले में दोषी लालू यादव की पैरवी झारखंड हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में राम जेठमलानी ने ही की थी। माना जाता है कि इसी के एवज में राम जेठमलानी को आरजेडी कोटे से राज्यसभा सांसद बनाया गया है। जेठमलानी ने कहा है कि वह सिर्फ अमीरों से ही फीस लेते हैं, जबकि गरीबों के लिए वह मुफ्त में काम करते हैं।

इस बीच जेठमलानी ने कहा है कि यह सब वित्त मंत्री अरुण जेटली का किया धरा है। वह मेरे क्रॉस एग्जामिनेशन से डर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अगर दिल्ली सरकार या सीएम अरविंद केजरीवाल मुझे पैसे नहीं देते, तब भी मैं मुफ्त में उनका मुकदमा लड़ूंगा। मैं केजरीवाल को अपना गरीब क्लाइंट समझ लूंगा।

दरअसल सोमवार को खबरें आई थीं कि अरविंद केजरीवाल को जेठमलानी ने 3.42 करोड़ का बिल भेजा है, जो उनकी केस लड़ने की फीस है। अरुण जेटली द्वारा दायर किए गए मानहानि केस में केजरीवाल के वकील राम जेठमलानी हैं। जेठमलानी ने रिटेनरशिप के लिए एक करोड़ रुपये और उसके बाद प्रति सुनवाई 22 लाख रुपये फीस रखी है। इस तरह उनकी कुल फीस 3.42 करोड़ रुपये हो गई। दिल्ली सरकार ने बिल का भुगतान करने के लिए उपराज्यपाल को खत लिखा है। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस केस जुड़े बिलों पर दस्तखत कर उसे पास करने के लिए दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास भेज दिया है।

वीडियो: वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी के लिए केजरीवाल गरीब क्लाइंट की तरह; कहा- "फीस नहीं दे पाए तो मुफ्त में लड़ूंगा मुकदमा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग