ताज़ा खबर
 

रामनवमी: बिहार के नवादा में और बढ़ा तनाव, शोभायात्रा के लिए पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, CRPF, RAF, ITBP, SSB के जवान तैनात

तनावपूर्ण हालात को देखते हुए पुलिस मुख्यालय के एडीजी, मगध रेंज के आईजी और डीआईजी नवादा में ही कैंप कर रहे हैं।
सुरक्षाबलों के साथ प्रभावित इलाके का मुआयना करते जिलाधिकारी मनोज कुमार।

इस बार रामनवमी के मौके पर बिहार और पश्चिम बंगाल के कई शहरों में हिंसा की खबर है। बिहार के नवादा जिले में रामनवमी के दिन फैली हिंसा की वजह से वहां आज भी हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। प्रशासन ने जगह-जगह अर्द्ध सैनिक बलों, रैपिड एक्शन फोर्स , सीमा सुरक्षा बल, सीआरपीएफ और आईटीबीपी की तीन कंपनियों को तैनात कर दिया है। नवादा में आज (07 अप्रैल को) शोभा यात्रा निकालने का कार्यक्रम है। इस सिलसिले में केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता गिरिराज सिंह वहां पहुंचे हैं लेकिन जिला प्रशासन ने उन्हें सर्किट हाउस में कमरा उपलब्ध नहीं करवाया। इससे नाराज गिरिराज सिंह वहीं धरने पर बैठ गए। उनके साथ बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार समेत कई भाजपा नेता भी मौजूद हैं। इस दौरान गिरिराज सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर संगीन आरोप लगाया है और कहा है कि नीतीश कुमार उनकी हत्या कराना चाहते हैं।

तनावपूर्ण हालात को देखते हुए पुलिस मुख्यालय के एडीजी, मगध रेंज के आईजी और डीआईजी नवादा में ही कैंप कर रहे हैं। मगध प्रमंडल के कमिश्नर भी वहां कैम्प कर रहे हैं। इनके अलावा गया और पटना से भी कई अधिकारी नवादा में कैम्प कर रहे हैं ताकि किसी भी स्थिति से निपटा जा सके।

Giriraj Singh नवादा में धरने पर बैठे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार।

गौरतलब है कि शहर के सद्भावना चौक पर भगवान श्रीराम का फोटो फाड़ने पर दो समुदायों के बीच हिंसा भड़क गई थी। इसके बाद दोनों तरफ से जमकर रोड़ेबाजी हुई। मौके का फायदा उठाकर कुछ असामाजिक तत्वों ने कई दुकानों में आग लगा दी, इससे हालात तनावपूर्ण हो गए। दंगाइयों पर काबू पाने के लिए पुलिस को कई राउंड फायरिंग करनी पड़ी। दो दिन पहले पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भी भाजपा, बजरंग दल, विश्व हिन्दू परिषद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने 150 से ज्यादा रैलियां निकाली गई थीं। इस दौरान रैली में शामिल युवा हाथों में तलवार, चाकू और डंडे इत्यादि लिए हुए थे। ये युवक “जय श्री राम”, “जय बजरंग बली” और “हर हर महादेव” के नारे लगा रहे थे।

Nawada, Ramnavmi असामाजिक तत्वों ने मौका पाते ही कुछ दुकानों में आग लगा दी। (फोटो- डॉ. अशोक प्रियदर्शी)

दुर्गापुर में भी आरएसएस की दुर्गा वाहिनी से जुड़ी दर्जनों लड़कियों और महिलाओं ने हथियारों के साथ शोभायात्रा निकाली। खड़गपुर, इस्लामपुर और कोलकाता में रैलियों में शामिल होने वालों की संख्या अच्छी तादाद में थी। राज्य सरकार ने ऐसे आयोजन करने पर सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने के आरोप में केस दर्ज किया है। इनमें कई नेताओं को आरोपी बनाया गया है।

वीडियो: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले- नोटबंदी के बाद, भारत में नसबंदी की ज़रूरत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग