ताज़ा खबर
 

नाबालिग से बलात्कार के आरोपी विधायक ने की लालू से मुलाकात, सुप्रीम कोर्ट में होनी है सुनवाई

राज वल्लभ यादव को एक नाबालिग से बलात्कार के मामले में मिली जमानत को रद्द करने के लिए बिहार सरकार की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है।
Author पटना | October 6, 2016 16:05 pm
राजद से निलंबित विधायक राज बल्लभ यादव। (PTI File Photo)

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के निलंबित विधायक राज वल्लभ यादव ने गुरुवार (6 अक्टूबर) को पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद से उनके आवास पर मुलाकात की और कहा कि उनके मन में राज्य सरकार के खिलाफ कोई असंतोष नहीं है। यादव को एक नाबालिग के साथ बलात्कार के मामले में मिली जमानत को रद्द करने के लिए बिहार सरकार की याचिका पर शुक्रवार (4 अक्टूबर) को उच्चतम न्यायालय में सुनवाई होनी है। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से मुलाकात के बाद राज वल्लभ यादव ने संवाददाताओं से कहा कि दुर्गा पूजा पर बधाई देने के लिए यह एक शिष्टाचार भेंट थी।

इस बैठक के बारे में लालू प्रसाद का कोई बयान नहीं आया है। राबड़ी देवी आवास स्थित कार्यालय ने भी इसे एक शिष्टाचार भेंट बताया है। नवादा से विधायक राज वल्लभ यादव ने कहा कि राज्य सरकार के उनकी जमानत के खिलाफ उच्चतम न्यायालय जाने को लेकर उन्हें कोई शिकायत नहीं है। उन्होंने कहा, ‘सरकार एक व्यवस्था के तहत काम कर रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपील करने नहीं गए हैं, मुझे सरकार के खिलाफ कोई शिकायत नहीं है। आप क्यों (मीडियाकर्मी) व्यवस्था के खिलाफ सवाल खड़ा कर रहे हैं।’

सवालों के जवाब में यादव ने कहा, ‘मेरे खिलाफ कोई गंभीर आरोप नहीं है। मेरे खिलाफ कोई एफआईआर या सीआरपीसी की धारा 164 के अंतर्गत पीड़ित का कोई बयान नहीं है।’ राजद से तीन बार विधायक रहे यादव को उनके खिलाफ बलात्कार का आरोप लगने पर पार्टी से निलंबित कर दिया गया था। लड़की नालंदा में रहुई की रहने वाली है उसने छह फरवरी को मुफस्सिल थाना क्षेत्र स्थित विधायक के आवास पर बलात्कार होने का आरोप लगाया था। मामले में उसे गिरफ्तार कर लिया गया था और गत शुक्रवार (30 सितंबर) को उसे पटना उच्च न्यायायल से जमानत मिल गयी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग