ताज़ा खबर
 

भाई पर आरोप, नाबालिग बहन ने किया रेप का विरोध तो कैंची से गोदकर मार डाला

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने जब आरोपी चचेरे भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह नशे में घर पहंचा और नाबालिग के साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की।
पुलिस का कहना है कि युवक हत्या मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। (Representative Image)

बिहार के भोजपुर जिले के चरपोखरी थाना क्षेत्र के मुकुंदपुर गांव में रेप का विरोध करने पर एक नाबालिग लड़की की कैंची घोंप कर हत्या करने का मामला सामने आया है। नाबालिग से रेप की कोशिश और हत्या का आरोप उसके चचेरे भाई पर लगा है। पुलिस ने आरोपी को चचेरे भाई को हिरासत में लिया है। यह घटना शनिवार शाम की बताई जा रही है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस का मानना है कि शनिवार शाम को आरोपी भाई नशे की हालत में घर पहुंचा और नाबालिग के साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की। जब नाबालिग लड़की ने भाई की इस हरकत का विरोध किया तो आरोपी ने कथित तौर पर उसकी गर्दन में कैंची घोंप दिया। हमले के कारण लड़की की गर्दन पर गहरी चोटें आई। चोट के कारण पीड़िता की मौत हो गई। रविवार को पीड़िता की बड़ी बहन की ओर से मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई। पुलिस को संदेह है कि परिवार के दबाव के कारण पीड़िता की बहन ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने जब आरोपी चचेरे भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह नशे में घर पहंचा और नाबालिग के साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की। जिसका उसने विरोध किया और शोर मचाने लगी। चचेरी बहन को शोर मचाता देख उसने कैंची उठाकर उसकी गर्दन पर हमला किया और कैंची से गोद-गोदकर उसकी जान ले ली। मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा कि मृतका के साथ रेप हुआ है यह नहीं। पुलिस द्वारा इस मामले की जांच जारी है।

नाबालिग लड़की अपनी बड़ी बहन (16 साल) के साथ चाचा के घर में रह रही थी। वह क्लास 4th की स्टूडेंट थी। यह घटना उस वक्त हुई जब शनिवार शाम को लड़की अपने कमरे में अकेले थी। पुलिस ने बताया कि आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। जिन धाराओं में मामला दर्ज किया गया है, उसमें उसे 10 साल तक की सजा हो सकती है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.