ताज़ा खबर
 

बिहार के एजुकेशन डिपार्टमेंट की राय-भारत का हिस्सा नहीं कश्मीर

BEPC परीक्षाओं के प्रश्‍न-पत्र बनते एक जगह हैं मगर छपते अलग-अलग लोकेशंस पर हैं।
कैबिनेट विस्‍तार के दौरान बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी। (Source: PTI)

बिहार के शिक्षा बोर्ड द्वारा आठवीं कक्षा के लिए तैयार किए गए एक प्रश्‍न-पत्र को लेकर विवाद हो गया है। सभी सरकारी स्‍कूलों में विद्यार्थियों से परीक्षा में पूछा गया कि चीन, नेपाल, इंग्‍लैंड, कश्‍मीर और भारत जैसे देशों के निवासियों को क्‍या कहते हैं। 5 अक्‍टूबर को शुरू हुई परीक्षाएं बुधवार (11 अक्‍टूबर) को समाप्‍त होंगी। यह परीक्षाएं केंद्र के सर्व शिक्षा अभियान के तहत कराई जा रही हैं, जिनपर राज्‍य में बिहार एजुकेशन प्रोजेक्‍ट काउंसिल (BEPC) नियंत्रण रखती है। वैशाली जिले के छात्रों ने इस गलती की तरफ ध्‍यान दिलाया। जब इस बारे में वैशाली जिला शिक्षा अधिकारी संगीता सिन्‍हा से पूछा गया तो उन्‍होंने टाइम्‍स ऑफ इंडिया से कहा, ‘मैं छुट्टी पर थी और अभी लौटी हूं। मुझे मामला देखना पड़ेगा।’ BEPC के राज्‍य कार्यक्रम अधिकारी प्रेम चन्‍द्र ने गलती मानते हुए कहा, ‘यह बेहद शर्मिंदा करने वाला है, मैं मानता हूं।’ उन्‍होंने से प्रिंटिंग में गड़बड़ी बताया। BEPC परीक्षाओं के प्रश्‍न-पत्र बनते एक जगह हैं मगर छपते अलग-अलग लोकेशंस पर हैं।

बिहार में आठवीं के छात्रों से पूछा गया प्रश्‍न। (Source: Twitter)

इसी महीने की 6 तारीख को खबर आई थी कि दरभंगा के ललित नारायण विश्वविद्यालय के एक छात्र के एडमिट कार्ड पर न केवल भगवान गणेश की तस्वीर चिपकाई गई है, बल्कि गणेश नाम से हस्ताक्षर भी बना दिए गए। विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस गलती के लिए साइबर कैफे को जिम्मेदार बताया था।

रोहतास जिले के काराकाट क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक संजय यादव पर अपने ही क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल के प्रभारी प्रधानाध्यापक के साथ मारपीट करने और धमकी देने का आरोप लगा था। इस मामले की एक प्राथमिकी प्रभारी प्रधानाध्यापक ने काराकाट थाना में दर्ज कराई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग