ताज़ा खबर
 

बिहार में 12 घंटे में हुई 13 लोगों की संदिग्ध मौत, जहरीली शराब हो सकती है वजह

नीतीश सरकार की शराबबंदी के बीच अगर यह मौत जहरीली शराब के कारण हुई है तो सरकार के लिए मुश्किल हो सकती है।
बिहार में शराबबंदी को लेकर पटना हाईकोर्ट के आदेश के बाद भारत-नेपाल सीमा पर बनी शराब की दुकानों पर स्‍टॉक खत्‍म हो गया। (सांकेतिक तस्वीर। ) (Photo Source: Reuters)

बिहार के गोपालगंज जिले में पिछले 12 घंटे में करीब 13 लोगों की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि इन लोगों ने नकली शराब का सेवन किया था। मरने वालों में से अधिकतर सब्जी बेचने और मजदूर तबके के लोग थे। मृतकों के परिजनों ने दावा किया कि मौत का कारण जहरीली शराब पीना है। अगर परिजनों का दावा सही है तो शराब बंदी के बाद अवैध शराब से जुड़ा ये सबसे बड़ा कांड है।

गोपालगंज जिले के जिलाधिकारी राहुल कुमार ने अभी तक सिर्फ 10 लोगों की मौत की पुष्टी की है। राहुल कुमार ने कहा कि मौत की असल वजह जानने के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार करना होगा। मामले की जांच के लिए जिला प्रशासन ने तीन टीमों का गठन किया है। मरने वालों के ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि मंगलवार सुबस से ही इन लोगों के पेट में तेज दर्द हुआ था और उल्टियां होने लगी थीं। जिसके बाद उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान इनकी मौत हो गई। अकेले नोनिया टोली इलाके में ही 7 लोग मरे हैं।

बिहार में अप्रैल माह में शराब पर लगाए गए बैन के बाद जहरीली शराब के कारण हुई मौत का यह पहला मामला है। गोपालगंज में हुई इस घटना से नीतीश कुमार सरकार के लिए परेशानियां खड़ी हो सकती हैं। दरअसल सरकार ने दावा किया था कि उन्होंने शराब के निमार्ण और बिक्री को पूरी तरह बंद कर दिया है, ऐसे में शराब से हुई मौत सरकार के दावों पर सवाल खड़े करती है। हालांकि प्रशासन इसे जहरीली शराब कांड मानने से इनकार कर रहा है। गौरतलब है कि गोपालगंज राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव का ग्रह जनपद भी है।

Read Also: रियो ओलंपिक: वीडियो में देखिए जब 60 फीट ऊंचाई से गिरा TV कैमरा, घायल हो गए 7 लोग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. i
    indian(ncr)
    Aug 17, 2016 at 10:57 am
    जब राजद और जदयू के नेता ही शराब का अवैध धंधा करते है तो कया हो सकता है इन्हें तो गैर कानूनी काम करने की खुली छूट मिली हुयी है और बिहार की जनता को भी तो यही चाहिए बिहार का कुछ नहीं हो सकता है
    (0)(0)
    Reply
    1. N
      NAVNEET MANI
      Aug 17, 2016 at 3:05 pm
      चोर-चोर मौसरे भाई... लालू और नितीश.
      (0)(0)
      Reply
    2. S
      sanjay
      Aug 17, 2016 at 11:45 am
      मोदीजी से नितीश की कटुता किस हद तक है की उन्होंने लालू और कांग्रेस से भी हाथ मिलाने से परहेज नहीं किया ! कांग्रेस की नीतियों एवम उसकी इमरजेंसी के दौर के खिलाफ जिन पार्टियों का उदय हुआ था वे उस मूल सिद्धान्त से हठकर उसी कांग्रेस से हाथ मिलाया उसका परिणाम उसका नुकसान बिहार की जनता उठाएगी !
      (0)(0)
      Reply
      1. N
        NAVNEET MANI
        Aug 17, 2016 at 3:04 pm
        ये अहंकार नितीश को ले डूबेगा...
        (0)(0)
        Reply
      सबरंग