ताज़ा खबर
 

“नीतीश के करीबी, मीडिया के लोग और राजद-कांग्रेस नेता ही उपलब्ध करा रहे लालू परिवार के खिलाफ डॉक्यूमेंट”

प्रेम कुमार ने कहा कि हाल के दिनों में राज्य में मिट्टी घोटाला, जमीन घोटाला सामने आया है जिसमें लालू यादव का परिवार शामिल रहा है।
एक टीवी कार्यक्रम के दौरान लालू यादव, राबडी देवी, तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव एवं उनके परिवार के अन्य सदस्य। (Express archive photo)

बिहार विधान सभा में नेता विपक्ष और भाजपा नेता प्रेम कुमार ने कहा है कि जेडीयू अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी लोग ही भाजपा नेताओं को राजद अध्यक्ष लालू यादव और उनके परिवार के खिलाफ डॉक्यूमेंट उपलब्ध करवा रहे हैं ताकि उनका खुलासा किया जा सके। न्यूज 18 के मुताबिक प्रेम कुमार ने कहा है कि मीडिया के लोग के अलावा लालू की पार्टी राजद और कांग्रेस के नेता भी लालू यादव के खिलाफ डॉक्यूमेंट मुहैया करवा रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि राजद के कई नेता भाजपा नेताओं के लगातार संपर्क में हैं।

प्रेम कुमार ने कहा कि हाल के दिनों में राज्य में मिट्टी घोटाला, जमीन घोटाला सामने आया है जिसमें लालू यादव का परिवार शामिल रहा है। उन्होंने कहा कि इन्हीं वजहों से बिहार दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने लालू परिवार के सदस्यों को नजरअंदाज किया है। उन्होंने सवाल पूछा कि आखिर क्या वजह है कि अखबारों में विज्ञापन तो आ रहे हैं लेकिन उनमें से मुख्यमंत्री की तस्वीर गायह है जबकि पहले के सभी विज्ञापनों में ऐसा होता रहा है।

जब उनसे यह पूछा गया कि क्या आप महागठबंधन में दरार पैदा करने के लिए यह आरोप लगा रहे हैं तो उन्होंने इससे इनकार कर दिया। उधर, भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई अधिकारी नाराज हैं। इसलिए पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को वे लोग जानकारी मुहैया करा रहे हैं।

गौरतलब है कि बिहार में महागठबंधन को लेकर अक्सर खबरें आती रहती हैं कि लालू और नीतीश के बीच सबकुछ सामान्य नहीं है। इधर, हाल के दिनों में लालू यादव पर अपने बेटे तेज प्रताप यादव के मंत्रालय वन विभाग के तहत आने वाले पटना जू में मिट्टी घोटाला कराने का आरोप लगा। इसके अलावा जमीन घोटाले के भी आरोप लगे हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी पर बरसे लालू प्रसाद यादव, कहा- देश में इमरजेंसी जैसे हालात, संविधान की धज्जियां उड़ा रही बीजेपी सरकार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Arvind
    Apr 13, 2017 at 4:44 am
    Chor ke ch chor.
    (0)(0)
    Reply