ताज़ा खबर
 

गमगीन लालू प्रसाद यादव होली पर नहीं सह सके बेटे तेज प्रताप के घर का हुड़दंग, उठवा लिया साउंड सिस्‍टम, पर बेटे ने तुरंत दूसरा मंगवा लिया

जब तेज प्रताप यादव होली खेल रहे थे , उस वक्त लालू यादव समधी मुलायम सिंह यादव की भाजपा के हाथों करारी हार की वजह खोज रहे थे।
Author March 17, 2017 20:30 pm
दोस्तों के साथ होली खेलते बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव।

बिहार की राजधानी पटना में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के घर की होली हर बार चर्चा में रहती है। चर्चा तो इस बार भी रही, लेकिन अलग कारणों से। इस बार लालू ने पारंपरिक अंदाज में होली नहीं मनाई। हालांकि उनके बेटे तेज प्रताप यादव ने वह कसर जरूर पूरी कर दी। अपने सरकारी आवास में ‘अथाह’ कृष्ण भक्त व बिहार के सेहत मंत्री तेज प्रताप यादव ने 13 मार्च को अपने सखाओं के साथ 10 घंटे तक ‘लालू स्टाइल’ कुर्ता फाड़ होली खेली और ठेठ गॅंवइ भोजपुरी फगुआ गीतों का लुत्फ उठाया।

वहीं बगल के सरकारी बंगला में उनके पिता लालू प्रसाद यादव, माता राबड़ी देबी और अनुज तेजस्वी प्रसाद यादव घर के बाकी बालिग सदस्यों के साथ उदासी भरे माहौल में बैठे रहे। सभी यूपी चुनाव में समधी मुलायम सिंह यादव की भाजपा के हाथों करारी हार के कारण खोजने में माथापच्ची करते रहे। हालांकि बतौर खानापूर्ति शाम की बेला में कुछ चुनिन्दा शुभचिंतकों के साथ मिलकर इनलोगों ने एक-दूसरे पर थोड़ा बहुत अबीर-गुलाल लगाया।

पुख्ता खबरों के अनुसार राज्य के मनमौजी स्वास्थ मंत्री ने रंग व रस से भरे त्योहार का आगाज सुबह सात बजे अपने एक घनिष्ठ मित्र की कीमती कमीज फाड़कर किया। शाम तक उन्‍होंने मिलने आए लगभग 40 मित्रों की शर्ट, टी शर्ट, पैंट या पायजामा तार-तार कर दिया था। कई प्रकार के रंगो से उनके चेहरो को मंत्री ने अपनी उपस्थति में पुतवाया। फिर शाम को मंत्री महोदय ने सभी को बाबा रामदेव के पतंजलि द्वारा निर्मित साबुन व शैंपू से नहलवाया। इसके बाद अपने पास से एक-एक को कुर्ता-पायजामा का सेट पहनने के लिए दिया।

मदमस्त माहौल में देर से शामिल होने आए एक मित्र से तेज प्रसाद यादव ने पूछा ‘‘आने में लेट कर दिया तुमने, कहां चले गए थे?’’ जबाब मिला, ‘‘उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव जी से मिलने चला गया था। इसीलिए आपके यहां पधारने में थोड़ी देर हो गई।’’ दोनो भाइयों के असहज संबंध के मद्देनजर तेज प्रताप यादव को गुस्सा आना स्वभाविक था। सेहत मंत्री गरजे, ‘‘तो फिर यहां सुथनी उखाड़ने आये हो? भागो यहां से।’’ मित्रों के समझाने पर मंत्री जी ठंढा हुए और मित्र को माफ किया।

तस्वीर पर क्लिक करके देंखे तेज प्रताप यादव ने कैसे मनाई होली-

बृंदावन प्रेमी मंत्री ने माइक पर भाषण दिया, ‘‘मैं पक्का कृष्ण भक्त हूं। तभी तो कान्हा की ही भांति होली मिलन का आनन्द ले रहा हूं। हम कृष्णवंशियो का ये संकल्प है कि किसी भी स्थिति में भाजपा को बिहार में नहीं घुसने देना है।’’

तेज प्रताप यादव अपने सरकारी आवास पर होली मिलन के दौरान भाषण देते हुए।

ढोलक, झांझ और झाल की कानफाड़ू थाप पर बेतरतीब गायकों की आवाज साउन्ड सिसटम के मार्फत जब राजद सुप्रीमों के कान को परेशान करने लगी तो वह गुस्से में तेज प्रताप यादव के आवास में घुसे और माइक तथा साउंड सिस्‍टम उठवाकर अपने साथ लेते गए। करीब घंटा भर मंत्री के आवास में ‘डर, आश्चर्य व शांति’ का वातावरण छाया रहा। कुछ मुहलग्गू मित्रों ने मंत्री के बासी मूड में हवा भरना कुछ इस प्रकार शुरू किया, ‘‘आपका तो घर में कुछ इज्जत ही नहीं है। हमसब तो आपके घर आकर होली का मस्ती लूट रहे हैं, वह भी आपके बाबूजी को पसन्द नहीं आ रहा है।’’ हवा अपना काम कर गई। ततक्षण कृष्ण भक्त तेज प्रताप यादव ने अपनी सरकारी कार बाजार दौड़वाई और दूसरा माइक व साउंड सिसटम मॅंगवाकर फाग के अवसर पर पिता द्वारा बाधित किए गए रसीले कार्यक्रम को जारी करवाया। तेज प्रताप यादव के उग्र रुख के कारण कार्यक्रम बिना रोक टोक के रात 11 बजे तक चला।

कुर्ताफाड़ होली मनाने के लिए मशहूर लालू ने जहां इस बार यह त्‍योहार नहीं मनाया, वहीं उनके पुराने करीबी और अब भाजपा नेता रामकृपाल यादव ने जमकर होली खेली।

लालू कैसी होली खेलते थे, उसकी झलक यहां इस वीडियो में देखिए:

वीडियो- 1950 से 2017 तक, कुछ इस तरह बदले बॉलीवुड के होली के गाने

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग