ताज़ा खबर
 

बिहार में मेडिकल पेशे से जुड़े 25 ठिकानों पर आयकर के ताबड़तोड़ छापे

छापेमारी का नेतृत्व आयकर अपर आयुक्त मधुमालती घोष कर रही है और पटना, झारखंड, भागलपुर, बेगूसराय, मुजफ्फरपुर और पूर्णिया की 25 आयकर टीमें इनके खाते और लेनदेन खंगालने में लगी है।
आयकर विभाग को उम्मीद है बिहार में बड़ी कामयाबी हासिल होगी।

गंगापार पूर्णिया में आयकर महकमा ने मेडिकल पेशे से जुड़े 25 ठिकानों पर अलग-अलग टीमों का गठन कर छापा मारा। यह छापेमारी बुधवार से लगातार जारी है। आयकर अन्वेषण महकमा के सहायक निदेशक शिवशंकर यादव ने इसकी पुष्टि की है। इनके मुताबिक शुक्रवार शाम तक जांच पड़ताल जारी रह सकती है। करोड़ों रुपए की करबंचना और बेहिसाब जायदाद मिलने की बात भरोसे लायक सूत्र बताते हैं। इसी वजह से गहन छानबीन आयकर महकमा करने में जुटा है। इसमें नोटबंदी में भी कालेधन को सफेद करने में भारी हेराफेरी करने की बात सामने आ रही है।

छापेमारी का नेतृत्व आयकर अपर आयुक्त मधुमालती घोष कर रही है और पटना, झारखंड, भागलपुर, बेगूसराय, मुजफ्फरपुर और पूर्णिया की 25 आयकर टीमें इनके खाते और लेनदेन खंगालने में लगी है। आयकर महकमा को उम्मीद है बिहार में बड़ी कामयाबी हासिल होगी।

आयकर महकमा की छापेमारी पूर्णिया के मौर्या डायग्नोस्टिक क्लिनिक, एम्बिशन कोचिंग इंस्टीच्यूट, एम्बिशन के निदेशक अमित कुमार सिंहा, ब्राइट कैरियर के निदेशक गौतम सिंहा, ईशान, डा. मुकेश, डा. विभा झा, डा. ओपी साह (फिजिशियन) के मां भगवती नर्सिंग होम, डा. ओपी साह (सर्जन) के नीलम नर्सिंग होम, डा. विपिन कुमार सिंह का आरोग्य आशीर्वाद नर्सिंग होम, डा. ब्रह्मदेव कुमार, डा. एके सिंहा के अलावे 12 शेयर धारकों के ठिकानों पर की जा रही है। इनके घर और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को खंगाला जा रहा है।

आयकर सूत्रों के मुताबिक, पूर्णिया के गांव कस्बा में ये मेडिकल कालेज खोलने की तैयारी में थे और बड़ी रकम इसमें निवेश की गई है। इनकी आमदनी के अनुपात में टैक्स अदायगी नहीं है और मेडिकल कालेज खोलने में काला धन खपाया जा रहा था। छापामारी और छानबीन पूरी होने के बाद विस्तृत जानकारी मिल सकेगी। खबर लिखे जाने तक आयकर की टीमें उनके ठिकानों पर जमी है।

देखिए वीडियो - चेन्नई: आयकर विभाग ने तमिलनाडु के मुख्य सचिव राममोहन राव के घर की छापेमारी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग