ताज़ा खबर
 

रामनवमी का पोस्टर फाड़ने पर दो समुदायों में हिंसा, उपद्रवियों ने किया पथराव, दुकानों में लगाई आग, एनएच जाम

बिहार के नवादा जिले में रामनवमी का पोस्टर फाड़े जाने के विवाद पर दो समुदायों में हिंसक झड़प हो गई है।
असामाजिक तत्वों ने मौके का फायदा उठाते हुए कुछ दुकानों में आग लगा दी और एनएच जाम कर दिया। (फोटो- डॉ. अशोक प्रियदर्शी)

बिहार के नवादा जिले में रामनवमी का पोस्टर फाड़े जाने के विवाद पर दो समुदायों में हिंसक झड़प हो गई है। जिला मुख्यालय के सद्भावना चौक पर रामनवमी का पोस्टर फाड़ने के विवाद में पहले तो दो समुदाय के लोग आपस में भिड़ गए इसके बाद दोनों तरफ से मारपीट हुई और रोड़ेबाजी शुरू हो गई। असामाजिक तत्वों ने मौका पाते ही कुछ दुकानों में आग लगा दी और कई गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए। इससे नाराज लोगों ने राष्ट्रीय उच्च पथ (एनएच) 31 पर जाम लगा दिया। हालात देखते हुए वहां के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को मौके पर पहुंचना पड़ा। फिलहाल प्रशासन ने घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति पर नियंत्रण पा लिया है और जाम हटवा लिया है।

घटना की सूचना मिलते ही तुरंत जिला प्रशासन के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए। सूत्रों ने बताया कि उपद्रवियों को शांत कराने के लिए पुलिस को 6 राउंड हवाई फायरिंग करनी पड़ी है। पथराव में तीन लोगों के घायल होने की सूचना है। सभी घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शहर में पुलिस लगातार पेट्रोलिंग कर रही है। अफवाह फैलानेवालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

Nawada, Ramnavmi असामाजिक तत्वों ने मौका पाते ही कुछ दुकानों में आग लगा दी। (फोटो- डॉ. अशोक प्रियदर्शी) nawada नवादा के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह मौके पर पहुंचकर लोगों से शांति की अपील करते हुए। (फोटो- डॉ. अशोक प्रियदर्शी)

गौरतलब है कि रामनवमी के मौके पर बिहार के कई जिलों में झांकी निकाली जाती है। नवादा में भी हर साल इस मौके पर शोभायात्रा निकाली जाती है लेकिन इस मौके पर अक्सर यहां दो समुदायों में हिंसक झड़प देखने को मिलती है। इस लिहाज से रामनवमी पर नवादा को संवेदनशील माना जाता है। बावजूद इसके प्रशासन ने एहतियातन वहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं किए थे। केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी जिला प्रशासन पर सुरक्षा में लापरवाही का आरोप लगाया है।

सुरक्षाबलों के साथ घटनास्थल का मुआयना करते जिलाधिकारी मनोज कुमार।

फिलहाल, जिलाधिकारी मनोज कुमार, एसपी विकास बर्मन, एसडीओ राजेश कुमार, एएसपी अभियान, एसडीपीओ समेत बड़ी संख्या में अधिकारी और पुलिस बल न केवल घटनास्थल पर कैम्प कर रहे हैं बल्कि शहर में पेट्रोलिंग भी कर रहे हैं। इसबीच, प्रशासन का कहना है कि हालात नियंत्रण में है। संदिग्ध लोगों को देखते ही गिरफ्तार करने के आदेश दिये गये हैं। शहर में तनाव के मद्देनजर राज्य मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की गयी है।

वीडियो: बिहार: मानसिक रूप से बीमार महिला को पति घसीटकर ले गया, अस्पताल ने मुहैया नहीं करवाया स्ट्रेचर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.