ताज़ा खबर
 

बिहार: पैसे देकर घर-गैराज में चल रहे थे स्कूल-कॉलेज, नीतीश सरकार ने रद्द की 50 की मान्यता

वैशाली के 15 स्कूल-कॉलेज के अलावा, भोजपुर के 12, सारण के 10, गया के 6, समस्तीपुर के 5 स्कूल-कॉलेज की मान्यता रद्द की गई है।
सारण जिले में दो कमरे में चल रहा एक स्कूल। (फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव)

बिहार में हुए टॉपर घोटाले के बाद निशाने पर आए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति में चल रहे गोरखधंधे का पर्दाफाश हुआ है। बोर्ड के मौजूदा अध्यक्ष आनंद किशोर ने कार्रवाई करते हुए ऐसे 50 स्कूल-कॉलेजों की मान्यता रद्द कर दी है जो मापदंड पूरे नहीं कर रहे थे। इससे पहले भी बोर्ड ने ऐसे कई स्कृल-कॉलेज की मान्यता रद्द की थी जो घरों में या गैराज से संचालित किए जा रहे थे। बोर्ड अध्यक्ष ने ऐसे कुल 212 संस्थानों की जांच कराई थी। इनमें से 174 की मान्यता रद्द कर दी गई है जबकि 26 इंटर कॉलेजों की मान्यता निरस्त और 2 संस्थानों की मान्यता निलंबित की गई है। बोर्ड ने चार संस्थानों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज कराई है।

गौरतलब है कि इनमें से अधिकांश स्कृल-कॉलेजों को बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष और टॉपर घोटाले में जेल में बंद लालकेश्वर प्रसाद सिंह के कार्यकाल में मान्यता मिली थी। सबसे ज्यादा वैशाली जिले के स्कूल-कॉलेज की मान्यता रद्द की गई है। वैशाली के 15 स्कूल-कॉलेज के अलावा, भोजपुर के 12, सारण के 10, गया के 6, समस्तीपुर के 5 स्कूल-कॉलेज की मान्यता रद्द की गई है।

बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि मान्यता रद्द होने वाले सभी संस्थान बिहार विद्यालय परीक्षा समिति संबद्धता नियमावली 2011 के मानकों को पूरा नहीं कर रहे थे। इन्हें साल 2014 से 2016 के बीच मान्यता मिली थी। बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह ने पैसे लेकर और नियमों को ताक पर रखकर इन संस्थानों को मान्यता दी थी। साल 2016 में टॉपर घोटाला उजागर होने के बाद ये तथ्य सामने आया। इसके बाद बोर्ड के नए अध्यक्ष ने मामले की जांच करवाई। बता दें कि इंटर टॉपर घोटाले की आरोपी छात्रा भी वैशाली के एक इंटर कॉलेज की छात्रा थी।

टॉपर घोटाला उस वक्त उजागर हुआ था जब बिहार इंटरमीडिएट की परीक्षा में टॉप करने वालों का इंटरव्यू लेने मीडिया कर्मी पहुंचे थे। इस दौरान आर्ट्स और साइंस के टॉपर्स ने अपने-अपने विषय से जुड़े साधारण से प्रश्नों का भी जवाब नहीं दिया था। इस इंटरव्यू के बाद बिहार विद्यालय परीक्षा समिति में चल रही कई गड़बड़ियों का खुलासा हुआ था।

वीडियो: बिहार स्टाफ परीक्षा का पर्चा लीक; पुलिस ने आयोग के सचिव को हिरासत में लिया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग