ताज़ा खबर
 

बिहार नगर निकाय चुनाव: भागलपुर जिले के 73 उम्मीदवार दागी, 21 मई से डाले जाएंगे वोट

73 प्रत्याशियों और 18 इनके प्रस्तावक और समर्थक की सूची जिले के नोडल अधिकारी ने एसएसपी को भेजी है।
लालू प्रसाद यादव के साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (File Photo)

बिहार का हरेक शहर व गांव का हरेक मोहल्ला नगर निकाय चुनाव के शोर में डूबा हुआ है। भागलपुर जिले के 73 उम्मीदवार और 18 इनके समर्थक व प्रस्तावक बदमाश किश्म के हैं। इनके खिलाफ बाकायदा पुलिस में रिकार्ड है। एसएसपी मनोज कुमार के मुताबिक ऐसों को चुनाव से पहले जिला बदर किया जा सकता है। एक दो रोज में इस बाबत आला अफसरों की बैठक होने वाली है। नगर विकास व आवास महकमा की जारी अधिसूचना के मुताबिक प्रथम चरण में 101 नगर निकायों के लिए 21 मई को वोट डाले जाएंगे। वोटों की गिनती 23 मई को होगी। दूसरे चरण में 11 निकायों के चुनाव होने है। जहां 4 जून को मतदान होगा।

प्रथम चरण में भागलपुर समेत 7 नगर निगम, 31 नगर परिषद और 63 नगर पंचायत के चुनाव होने है। दूसरे चरण में 2 नगर निगम, 7 नगर परिषद और 2 नगर पंचायत के चुनाव कराने का कार्यक्रम तय हुआ है।

आयोग ने राजनीतिक दलों के इस्तेमाल पर रोक के साथ साथ सरकारी या सरकार के उपक्रम और निजी भवनों पर किसी प्रकार का पोस्टर बैनर चिपकाने पर भी पाबंदी रहेगी। महकमा के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद के दस्तखत से जारी निर्देश में लाउडस्पीकर का उपयोग सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक ही करना है।

स्कूल, अस्पताल और धार्मिक स्थलों के नजदीक लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं होगा। इन नियमों का उल्लंघन करने वाले उम्मीदवार या इनके कार्यकर्त्ता पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। एसडीओ और थाना स्तर के पुलिस अधिकारी इन बातों पर अपनी पैनी निगाह रखेंगे। इसकी उन्हें हिदायत है।

जानकार बताते हैं कि दागदार प्रत्याशियों से बांड भरवाया जा रहा है। ताकि किसी भी गड़बड़ी पर इनके वार्ड में वे ही जिम्मेवार होंगे। 73 प्रत्याशियों और 18 इनके प्रस्तावक और समर्थक की सूची जिले के नोडल अधिकारी ने एसएसपी को भेजी है। जिसमें सबके नाम, वार्ड संख्या और विभिन्न दफाओं के तहत पुलिस थानों में दर्ज मामलों का जिक्र है। जिसके मुताबिक इनपर कत्ल, हत्या की कोशिश, डकैती, लूट, चोरी, धोखाधड़ी, छेड़खानी, मारपीट और दुष्कर्म सरीखे संगीन आरोप है।

एसएसपी ने बताया कि आयोग के मिले निर्देश के मुताबिक आरोपी उम्मीदवारों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल की तैयारी चल रही है और ऐसों की हरकतों व गतिविधियों पर पुलिस की खास नजर है। साथ ही आदर्श आचार संहिता का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। किसी तरह का फसाद करने वालों के खिलाफ दफा 107 के तहत निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है। यह काम एसडीओ स्तर के अधिकारी कर रहे हैं।

भले ही ईवीएम को लेकर देश के मुख्य चुनाव आयोग के सामने विपक्षी राजनैतिक दल सवाल खड़े कर रहे हो, मगर बिहार में स्थानीय नगर निकायों के चुनाव ईवीएम से ही कराने की तैयारी है। ईवीएम मशीन को सील करने का काम चल रहा है। सोमवार 15 तारीख को चुनाव कर्मियों को इसकी ट्रेनिंग दी गई। 17 मई को चुनाव की तैयारियों को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग बिहार के सभी जिलों के डीएम, एसएसपी और एसपी से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए जायजा लेगा।

देखिए वीडियो - लालू एंड संस: जानिए लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के किस कंपनी में हैं कितने शेयर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.