ताज़ा खबर
 

ईद की खरीदारी कर घर लौट रही 8 साल की लड़की की हत्या, पिता का आरोप- आम तोड़ने पर बाग के मालिक ने ली जान

पिता ने घटना की सूचना बसमतिया ओपी अघ्यक्ष सदानंद साह और पुलिस को दी, जिसके बाद उन्होंने शव की जांच की।
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बिहार के अररिया में आम चुराने को लेकर एक 8 साल की बच्ची की रविवार को हत्या कर दी गई। हत्यारों ने मासूम के हत्या करने से पहले उसके साथ कथित तौर पर दुर्यव्यहार किया। आरोपियों ने पहले तो मासूम की बेरहमी से पिटाई की। जब उनका इतने से भी मन नहीं भरा तो उन लोगों ने मासूम पर दबिया से वार किया। शरीर पर बार-बार दबिया के प्रहार से बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद हत्यारों ने साक्ष्य को छुपाने के लिए बच्ची के शव को इनर्वटर से बिजली का शॉक भी दिया। इस दौरान पीड़ित के पिता ने आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।

दरअसल, मामला अररिया के नरपतगंज प्रखंड के बसमतिया ओपी क्षेत्र का है। रविवार को ईद के लिए इब्राहिम साफी अपनी पुत्री अमेरुन निशा (8) के साथ खरीदारी करने बाजार जा रहे थे। बाजार के रास्ते में आम का बगीचा आने पर अमेरुन आम चुनने के लिए जिद करने लगी। बेटी की जिद पर पिता बेबस हो गया और अपनी मासूम बेटी को आम के बगीचे में अकेला छोड़कर चला गया। जब वे बाजार से लौटकर आम के बगीचे में आए तो अपनी बेटी को मृत पाया। शव पर कई कट के निशान थे और ऐसा लग रहा था जैसे उसे कई बार बिजली का झटका दिया गया हो। अपनी बेटी को ढू्ंढ़ने लगे तो उनकी बच्ची मृत अवस्था बीमौके पर इतने से भी मन नहीं भरा तो उन्होंने साक्ष्य शव के साथ ईद मनाकर लौट रही बच्ची हनरपतगंज (अररिया) में बच्ची के जिद के आगे झुकना पिता को पड़ा महंगा। पिता ने हमेशा के लिए अपनी बच्ची को खो दिया। हत्यारों ने बेरहमी से उसे मार दिया।

पिता ने घटना की सूचना बसमतिया ओपी अघ्यक्ष सदानंद साह और पुलिस को दी, जिसके बाद उन्होंने शव की जांच की। मृतक के पिता ने पुलिस को बताया कि उसके पुत्री के साथ दुर्यव्यहार भी किया गया है तथा साक्ष्य को छुपाने के लिए इलेक्ट्रिक शॉक भी दिया गया है। पीड़ित पिता ने पुलिस में दर्ज कराई प्राथमिकी में बसमतिया के वार्ड संख्या नौ के संजय मेहता उसकी पत्नी बबितया देवी, विनोद मेहता, बीरेन्द्र मेहता तथा उमेश मेहता को नामजद आरोपी बनाया है। पीड़ित पिता ने कहा कि जिस आम के बगीचे में उनकी बेटी की हत्या की गई वो इन्हीं आरोपियों का है।

फिलहाल पुलिस ने कार्रवाई करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भिजवा दिया है। वहीं बसमतिया ओपी अध्यक्ष श्री साह ने बताया कि पहली नजर में बच्ची की हत्या किसी धारदार हथियार से की गई लग रहा है। साक्ष्य छुपाने के लिए बच्ची को इलेक्ट्रिक शॉक भी दिया गया है। हालांकि, पोस्टर्माटम रिपोर्ट आने के बाद ही हत्या के कारण का खुलासा हो सकेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग