ताज़ा खबर
 

बिहार के छह मेडिकल कॉलेजों में लॉटरी से होगा एमबीबीएस छात्रों का चयन

मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया ने निरीक्षण करने के बाद इस कोर्स के संचालन की अनुमति नहीं दी। इसी के चलते इस साल कॉलेज में छात्रों का एडमिशन भी नहीं लिया गया
फोटो का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बिहार के सरहसा में सौ एमबीबीएस छात्रों का दाखिला लॉटरी के जरिए किया जाएगा। यह सौ एमबीबीएस छात्र लॉर्ड बुद्धा मेडिकल के हैं जिनका एडमिशन लॉटरी के जरिए राज्य के छ मेडिकल कॉलेज में होगा। इससे पहले मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया ने इस कोर्स को मान्यता नहीं दी थी जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को यह फैसला लिया।
मामला साल 2012 का जब लॉर्ड बुद्धा मेडिकल कॉलेज एमबीबीएस छात्रों का एडमिशन हुआ था और साल 2016 इन सभी छात्रों का फाइनल ईयर था। लेकिन मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया ने निरीक्षण करने के बाद इस कोर्स के संचालन की अनुमति नहीं दी। इसी के चलते इस साल कॉलेज में छात्रों का एडमिशन भी नहीं लिया गया और पिछले तीन सालों के दौरान हुए दाखिलों पर भी संकट छा गया था।
इस सब से परेशान छात्रों ने स्वास्थ्य विभाग से गुहार लगाई लेकिन यह मामला वहां पर भी काफी समय तक लटका रहा है। अपने भविष्य की चिंता के चलते छात्रों ने इसके बाद हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। जिसके बाद पटना हाईकोर्ट ने छात्रों का समायोजन करने का आदेश दिया। कोर्ट के आदेश पर अब एमसीआई ने भी मुहर लगा दी हैं।
इस आदेश के बाद कॉलेज के प्रसिंपलों की बैठक हुई जिसमें चर्चा के बाद उन्होंने यह फैसला किया कि इन सभी सौ छात्रों का एडमिशन लॉटरी के जरिए लिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक सबसे ज्यादा एडमिशन पीएमसी के छात्रों के होंगे जिनके संख्या 20 है। इनके अलावा एनएमसी पटना, एसकेएमसी मुज्जफरपुर, जेएलएमएनसी भागलपुर एएनएमएमसी गया और डीएमसी दरभंगा में 16-16 छात्रों का एडमिशन होगा। इन सभी छात्रों की दाखिले की प्रक्रिया गुरुवार के बाद होगी।

वीडियो: बिहार बोर्ड ने 68 इंटर कॉलेजों और 19 स्कूलों की मान्यता रद्द की

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.